पापा ने देखा सपना, बेटी ने कर दिया पूरा, 22 साल की उम्र में बनीं आईपीएस ऑफिसर, पढ़े पूरी सक्सेस स्टोरी

नोएडा. संघ लोक सेवा आयोग की परीक्षा पास करना कोई आसान काम नहीं होता है, लेकिन अगर कोई एक बार ठान लें कि इसके अलावा कोई ऑप्‍शन नहीं है, तो फिर कुछ भी किया जा सकता है. ऐसी ही एक महिला अफसर हैं जिनका नाम है पूजा अवाना. जिन्‍होंने यूपीएससी एग्जाम में 316वीं रैंक हासिल की थी और ये करिश्‍मा पूजा ने सिर्फ 22 साल की उम्र में किया था. जानते हैं उनकी सक्‍सेस स्‍टोरी.

पूजा अवाना के पिता विजय अवाना अपनी बेटी को पुलिस वर्दी में देखना चाहते थे और पूजा ने अपने पिता के सपने को पूरा कर दिखाया. उन्‍होंने यूपीएससी की तैयारी शुरू कर दी, हालांकि उनका ये सफर आसान नहीं था.

नोएडा के अट्टा गांव की रहने वाली पूजा अवाना शुरुआत से ही पढ़ाई में नंबर एक आती थीं और उन्‍होंने ग्रेजुएशन के बाद यूपीएससी की तैयारी शुरू कर दी. उन्‍होंने 2010 में पहली बार यूपीएससी की परीक्षा दी, हालांकि वे इसमें सफल नहीं हो सकीं, लेकिन उन्होंने तैयारी जारी रखी.

पहले प्रयास में असफल होने के बाद उन्होंने दूसरी बार ज्यादा तैयारी के साथ परीक्षा दी और इस बार वे सफल हो गईं. पूजा ने इस बार ऑल इंडिया में 316वीं रैंक प्राप्त की और सिर्फ 22 वर्ष की उम्र में वे आईपीएस बनने में सफल रहीं.

यूपीएससी परीक्षा की तैयारी कर रहे उम्‍मदीवारों को वह सलाह देती हैं कि असफल या अच्छे मार्क्स नहीं मिलने से वे हताश न हो. आपको अपने टारगेट पर डटे रहना चाहिए और अपने सपनों को पूरा करने के लिए कड़ी मेहनत जारी रखना चाहिए.

पूजा अवाना की पहली पोस्टिंग पुष्कर में हुई. इसके बाद वे विभिन्न पदों पर रहते हुए जयपुर ट्रैफिक उपायुक्त के पद तक पहुंचीं.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
-----------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper