पीएम मोदी ने देशवासियों को दी रक्षाबंधन की बधाई, ट्वीट कर कही ये बात

नई दिल्ली: देशभर में आज रक्षाबंधन का त्योहार मनाया जा रहा है। रक्षाबंधन का त्योहार भाई-बहन के रिश्ते और प्यार को दिखाता है। संपूर्ण भारत इसे बड़े उत्साह के साथ मनाता है। कोई भी हिंदू त्योहार धार्मिक अनुष्ठानों के बिना अधूरा है। रक्षाबंधन में पहले भगवान की पूजा की जाती है और फिर बहनें अपने भाइयों की पूजा करती हैं और रक्षा मंत्र का जाप करते हुए उनकी कलाई पर राखी बांधती हैं।

यह सकारात्मकता लाता है और उसके जीवन से सभी नकारात्मक ऊर्जाओं को खत्म करता है। इस खास मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों को रक्षाबंधन की बधाई दी है। पीएम नरेंद्र मोदी ने 11 अगस्त की सुबह ट्वीट कर कहा है, ”आप सभी को रक्षाबंधन की बहुत-बहुत बधाई।” गृह मंत्री अमित शाह ने भी ट्वीट कर रक्षाबंधन की शुभकमानाएं दी हैं। अमित शाह ने ट्वीट कर लिखा है, ”सभी देशवासियों को रक्षाबंधन के पावन पर्व की हार्दिक शुभकामनाएं।”

रक्षा मंक्षी राजनाथ सिंह ने भी ट्वीट कर कहा, ”रक्षा बंधन के पावन पर्व की आप सभी को हार्दिक शुभकामनाएं।” इस बार 2 दिन मना सकते हैं रक्षाबंधन इस वर्ष रक्षा बंधन 11 अगस्त को है। हालांकि, हिंदू कैलेंडर के अनुसार इसे दो तिथियों 11 अगस्त और 12 अगस्त दोनों को मनाया जा सकता है। रक्षाबंधन श्रावण मास के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है जिसे श्रावण पूर्णिमा या कजरी पूनम नाम से भी जाना जाता है। श्रावण मास में शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि 11 अगस्त गुरुवार को प्रात 10.38 बजे से प्रारंभ होगी पूर्णिमा तिथि शुक्रवार, 12 अगस्त को प्रात 7:05 बजे तक रहेगी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper