प्रोजेक्ट ‘आर्ट ऑफ़ रिस्टोरेशन’ में 6 महीने तक होगी कार रिस्टोरेशन डॉक्यूमेंट

जयपुर । ऑटोमोबाइल और कला को एक मंच प्रदान करने के उद्देश्य के साथ कार्यरत ‘कार्टिस्ट’ अपने नए प्रोजेक्ट ‘आर्ट ऑफ़ रिस्टोरेशन’ की शुरुआत करने जा रहा है। इस दौरान दो कारों ‘कैडिलैक 1954 फ्लीटवुड और एम्बेसडर मार्क II’ का 6 महीने चलते वाला रिस्टोरेशन प्रक्रिया का दस्तावेजीकरण किया जायेगा।

इस दौरान इन दोनों ही कारों को रिस्टोर करने के साथ ही उनकी वास्तिविक स्थिति में वापस लाने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। कार्टिस्ट के देशभर में चले विभिन्न प्रोजेक्ट्स के दौरान हमने महसूस किया कि लोगों को उनकी गेराज में पड़ी पुरानी और विंटेज कार्स को फिर से रिस्टोर करने की कितनी जरुरत है। साथ ही लोग इन गाड़ियों को रिस्टोर करने के बारे में अधिक जानकारी जानना चाहते है। जिसके लिए कार्टिस्ट ऐसा उत्साहित लोगों को जोड़ने और शिक्षित करने के लिए इस तरह के प्रोजेक्ट पर कार्य कर रही है। इस पूरे प्रोजेक्ट का खास उद्देश्य अगली पीढ़ी के लिए इतिहास को संजो के रखना और साथ ही भारत में ऑटोमोबाइल कला की अवधारणा को प्रोत्साहित और बढ़ावा देना है।

इस दौरान कार्टिस्ट से हिमांशु जांगिड़ ने बताया कि कैडिलैक 1954 का निर्माण अमेरिका में जनरल मोटर्स (जीएम) द्वारा किया गया था और इसे अपने समय की एक उच्च श्रेणी की लक्जरी कार के रूप में माना जाता था। एंबेसडर मार्क II का निर्माण हिंदुस्तान मोटर्स द्वारा किया गया था, जो 1962 और 1975 के बीच निर्मित किया गया। रिस्टोरेशन की प्रक्रिया का दस्तावेजीकरण करने के अलावा, हम छह महीने की अवधि में कई दिलचस्प गतिविधियां को भी एक साथ लाएंगे। ऑटोमोबाइल उत्साही, छात्रों और युवाओं के बीच कलात्मक कौशल विकसित करने के लिए हम विभिन्न गतिविधियों का आयोजन करेंगे। जहां वर्कशॉप: कार्टिस्ट रिस्टोरेशन, बॉडी वर्क, टूल्स, डिजाइनिंग, फोटोग्राफी और अन्य पर कई तरह की एजुकेशनल वर्कशॉप आयोजित करेगा।

साथ ही प्रदर्शनियां: कार्टिस्ट युवा कलाकारों के लिए ऑटोमोबाइल और स्थिरता विषय के साथ एकल और समूह प्रदर्शनियों की मेजबानी करेगा। वार्ता सत्र: ऑटोमोबाइल उद्योग से ऑटोमोबाइल उद्योग में स्थिरता पर चर्चा करने की उम्मीद है। रेजीडेंसी में कलाकार: कलाकारों को कार्यशाला में आमंत्रित करना और कार बहाली के उनके दृष्टिकोण को चित्रित करना। यह परियोजना ऑटोमोबाइल उत्साही, डिजाइनरों, कलाकारों, ऑटोमोबाइल विशेषज्ञों, कई संस्थानों के छात्रों और आम जनता को अपने ज्ञान को साझा करने, चर्चा करने और हमारी विरासत और ग्रह-पृथ्वी को संरक्षित करने के लिए सहयोग करने के लिए एक आम मंच पर बुलाएगी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper