बरेली की स्नेहा ने अमेरिका में नेशनल राइफल/पिस्टल जूनियर ओलंपिक चैंपियनशिप 2024 में सिल्वर मेडल जीता

 


बरेली,14 मई । लखनऊ और बरेली से संबंध रखने वाली स्नेहा गुप्ता ने अमेरिका में नेशनल राइफल एवं पिस्टल जूनियर ओलंपिक चैंपियनशिप 2024 में सिल्वर मेडल जीता। इस मेडल के साथ ही स्नेहा ने अंडर-21 में अमेरिका में दूसरी रैंकिंग हासिल करने की भी उपलब्धि अपने नाम की। स्नेहा जूनियर विश्व चैंपियनशिप में अमेरिका की ओर से खेलना चाहती हैं। यह चैंपियनशिप सितंबर अक्टूबर में पेरू की राजधानी लीमा में आयोजित होगी।
बरेली और लखनऊ में संचालित एसआरएमएस ट्रस्ट के संस्थापक व चेयरमैन देव मूर्ति जी की नातिन और लखनऊ स्थित एसआरएमएस संस्थानों के डायरेक्टर प्रोफेसर श्यामल गुप्ता की बेटी स्नेहा गुप्ता (14 वर्ष) लखनऊ के कुंसकैपकालन स्कूल में दसवीं की छात्रा हैं। श्यामल जी ने बताया कि यूएसए ओलंपिक एसोसिएशन की संस्था यूएसए शूटिंग की ओर से 14 से 16 अप्रैल में नेशनल राइफल/पिस्टल जूनियर ओलंपिक चैंपियनशिप आयोजित हुई। राष्ट्रीय मान्यता प्राप्त खिलाड़ियों के लिए आयोजित इस चैंपियनशिप के लिए अमेरिका के सभी 50 स्टेट के विनर और रनरअप यानी गोल्ड और सिल्वर हासिल करने वाले खिलाड़ियों ही आमंत्रित किये जाते हैं। इसी वर्ष फरवरी में कोलरॉडो में स्टेट चैंपियनशिप आयोजित हुई। इसमें अमेरिकी नागरिकता हासिल स्नेहा ने अंडर- 21 जूनियर स्टेट चैंपियनशिप जीती थी। इसी वजह से उऩ्हें अमेरिका में नेशनल राइफल एवं पिस्टल जूनियर ओलंपिक चैंपियनशिप 2024 में खेलने का आमंत्रण मिला। स्नेहा ने कोलराडो स्टेट का प्रतिनिधित्व किया और चैंपियनशिप में दूसरा स्थान हासिल कर सिल्वर मेडल जीता। इससे 14 वर्षीय स्नेहा को यूएसए में अंडर 21, जूनियर टीम रैंकिंग में दूसरा स्थान भी मिला। जबकि गोल्ड मेडल हासिल करने वाली खिलाड़ी की उम्र 21 वर्ष है। स्नेहा अपनी उपलब्धि का श्रेय लखनऊ स्थित श्रीराम शूटिंग रेंज एकेडमी के अपने कोच सुजन सिंह और अमेरिकी कोच एलेक्सेस लगान को देती हैं। एलेक्सेस लगान पेरिस जाने वाली अमेरिकन ओलंपिक शूटिंग टीम की सदस्य हैं। स्नेहा कहती हैं कि उनका सपना जूनियर विश्व चैंपियनशिप में अमेरिका की ओर से खेलना हैं। यह चैंपियनशिप चार महीने बाद पेरू की राजधानी लीमा में आयोजित होगी। स्नेहा की इस उपलब्धि पर एसआरएमएस ट्रस्ट क संस्थापक व चेयरमैन देव मूर्ति जी और सचिव आदित्य मूर्ति जी ने बधाई दी। उन्होंने कहा कि मात्र 14 वर्ष की उम्र में स्नेहा ने देश का नाम रोशन करने के साथ ही बरेली और लखनऊ का भी नाम रोशन किया है। इसी तरह खेलने वाली स्नेहा जरूर भारत के लिए ओलंपिक पदक हासिल करेगी। बरेली से अखिलेश चन्द्र सक्सेना की रिपोर्ट

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
E-Paper