बार बार क्यों काटते हैं मच्छर जाने इसकी वजह?

नई दिल्ली। क्या आप जानते हैं कि एक छोटा सा मच्छर इंसान को बीमार बनाने के साथ कितना परेशान कर सकता है. हर साल पूरी दुनिया में मच्छरों के काटने से करोड़ों लोग डेंगू और मलेरिया का इलाज कराते हैं. अब समस्या है तो उसका समाधान भी है. इन मच्छरों पर बने फिल्मी डायलोग से इतर बात करें तो ये मच्छर हजारों सालों से लोगों का खून चूस रहे हैं. इसके काटने से हुई बीमारी की दवा इजाद हुई तो डॉक्टरों को भी सम्मानित किया गया. आगे चलकर ब्रिटिश चिकित्सक सर रोनाल्ड रॉस ने 1897 में जब अपनी खोज में ये पता लगाया कि मलेरिया के लिए मादा मच्छर जिम्मेदार है. इसके बाद तो भविष्य में और भी बहुत से रिसर्च हुए. फिर डॉक्टर रॉस के योगदान को ध्यान में रखते हुए विश्व मच्छर दिवस भी मनाया जाने लगा. आपके घर पर भी अक्सर मच्छरों की भरमार देखने को मिलती होगी. ऐसे में आइए बताते हैं कि आखिर मच्छर बार-बार क्यों काटते हैं.

मच्छर का काटना और उसके बाद होने वाली खुजली होना एक छोटी और मामूली सी परेशानी है लेकिन इसे नजरअंदाज करने पर इसका संक्रमण गंभीर लक्षणों को बढ़ावा दे सकता है. मच्छरों को इंसानी खून इतना क्यों पसंद है जो वो बारबार आपको काटते हैं. क्या है इसकी वजह आइए बताते हैं.

पूरी दुनिया में हर साल लाखों लोग किसी न किसी मच्छर जनित बीमारी से पीड़ित होते हैं. मलेरिया मच्छर के काटने से होने वाली सबसे आम और खतरनाक बीमारी है. हर साल करीब 4 लाख लोग मलेरिया के कारण अपनी जान गंवाते हैं. हालांकि, बढ़ती जागरूकता के साथ इसके मामलों और मौत की संख्या दोनों में गिरावट देखी गई है. जब एक संक्रमित मच्छर किसी स्वस्थ व्यक्ति को काटता है, तो वह व्यक्ति मलेरिया से संक्रमित हो सकता है.

मच्छर जब आपको काटकर खून पीते होंगे तो गुस्सा तो आपको भी जरूर आता होगा, लेकिन क्या आप इसके पीछे की वजह जानते हैं. घर हो या दफ्तर कहीं पर भी बैठे-बैठे अचानक मच्छर आपके हाथपैर, गर्दन, मुंह और शरीर के अंगों को काटने लगते हैं और आपको खुजली होने लगती है. ऐसे में आपको बता दें कि इन मच्छरों के ऐसा करने का वैज्ञानिक कारण भी है.

आपको मच्छरों से जुड़ा एक रोचक तथ्य बता दें कि एक मच्छर अपने वजन के तीन गुना तक इंसानों का खून चूस सकता है. वहीं विशेषज्ञों का कहना है कि मच्छरों को इंसानी खून चूसने से ऊर्जा मिलती है. यही वजह है कि वो इंसान को बारबार काटते हैं और जमकर उनका खून चूसते हैं. इंसानी खून में मौजूद पोषक तत्वों को मच्छर आपको काटकर प्राप्त करते हैं. आपको ये जानकर भी हैरानी होगी कि सिर्फ मादा मच्छर ही इंसानों को काटती है. ऐसा वो तब करती है जब वो अपने बच्चों को जन्म देने वाली होती है.

दरअसल मच्छरों को बैक्टीरिया और पसीने की गंध अपनी तरफ आकर्षित करती है जिस वजह से वो इंसानों के पैरों में सबसे ज्यादा काटते हैं. चप्पल पहन कर चलने से पैरों में धूल मिट्टी लग जाती है. उसमें कुछ बैक्टीरिया भी हो सकते हैं इसलिए भी मच्छर पैरों पर ही ज्यादा काटते हैं. वहीं बीमारी फैलाने वाला मच्छर ज्यादा उंचाई तक नहीं उड़ पाता है. इसलिए डॉक्टर्स भी मानसून यानी बारिश के सीजन में सभी को डेंगू और मलेरिया से बचने के लिए फुल बाजू वाली शर्ट और फुल पैंट यानी पूरी तरह से शरीर को ढ़कने वाले कपड़े ही पहनने की सलाह देते हैं.

 

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper