बाल-बाल बचे ओवैसी, सूरत जाते समय ट्रेन पर हुआ पथराव, खिड़कियों के टूटे शीशे

नई दिल्ली: गुजरात के सूरत जाते वक्त वंदे भारत एक्सप्रेस पर पथराव किया गया। जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि इसमें एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी भी सवार थे। हालांकि ओवैसी इस घटना में बाल-बाल बच गए लेकिन ट्रेन की खिड़की के शीशे टूट गए।

सूरत से करीब 20-25 किलोमीटर पहले इस ट्रेन पर हमला किया गया। रेलवे प्रशासन ने जहां इस हमले की जांच की बात कही है वहीं अब इस मामले पर राजनीति तेज हो गई है। AIMIM प्रवक्ता वारिस पठान ने कहा कि पत्थरबाजी जानबूझकर की गई ताकि ओवैसी को चुनाव में आगे बढ़ने से रोका जा सके। पार्टी नेता वारिस पठान ने ट्वीट करते हुए लिखा कि आज शाम जब हम, ओवैसी साहब और AIMIM नेशनल की टीम अहमदाबाद से सूरत के लिए वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन में सफर कर रहे थे तब कुछ अज्ञात लोगों ने ट्रेन पर जोर से पत्थर मारकर शीशा तोड़ दिया।

वहीं वारिस पठान ने बताया कि एआईएमआईएम प्रमुख ओवैसी जिस कोच में यात्रा कर रहे थे वहां की खिड़की पत्थरबाजी से टूट गई है। उन्होंने ओवैसी की यात्रा की जानकारी ट्वीट करके भी दी थी। वारिस पठान ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि मोदी जी आप पत्थर बरसा लो या आग बरसा लो, यह हक की आवाज न रुकी है और न रुकेगी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper