भारत और वियतनाम के बीच व्‍यापक रणनीतिक साझेदारी, रक्षा सहयोग इसका मुख्‍य स्‍तम्‍भ : राजनाथ सिंह

नई दिल्ली: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि भारत और वियतनाम के बीच व्‍यापक रणनीतिक साझेदारी है और रक्षा सहयोग इस साझेदारी का मुख्‍य स्‍तम्‍भ है। राजनाथ सिंह ने कहा कि वियतनाम, भारत की पूर्वी देशों को महत्‍व देने की नीति और हिंद-प्रशांत परिकल्‍पना में महत्‍वपूर्ण साझेदार है। श्री सिंह वियतनाम की तीन दिन की यात्रा पर हैं।

यात्रा के पहले दिन रक्षा मंत्री वियतनाम के संस्‍थापक पूर्व राष्‍ट्रपति होची मिन्‍ह की समाधि गए और श्रद्धाजंलि अर्पित की। उन्‍होंने हनोई में वियतनाम के रक्षा मंत्री जनरल फान वान जियांग के साथ द्विपक्षीय वार्ता की। वे वियतनाम के राष्‍ट्रपति और प्रधानमंत्री से भी मिलेंगे।

राजनाथ सिंह हेई फांग में होंग हा शिपयार्ड में भारत की दस करोड़ डॉलर की ऋण सहायता से निर्मित तीव्र गति की 12 रक्षा नौकाएं सौंपे जाने के समारोह की अध्‍यक्षता करेंगे। वे वियतनाम के प्रशिक्षण संस्‍थान और टेली कम्‍युनिकेशन विश्‍वविद्यालय का भी दौरा करेंगे। यहां भारत सरकार की पचास लाख डॉलर की सहायता से आर्मी सॉफ्टवेयर पार्क बनाया जा रहा है। रक्षा मंत्री हनोई में भारतीय दूतावास द्वारा आयोजित समारोह में भारतवशियों से बातचीत करेंगे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper