विदेश

भूकंप से मरने वालों की संख्या बढ़कर हुई 2100 के पार, 1500 भारतीय किस हाल में हैं?

रबत| मोरक्को में आए भूकंप में मरने वालों की संख्या बढ़कर 2,122 हो गई है। वहीं, 2,059 लोग घायल हुए हैं। इनमें से 1,404 लोगों की स्थिति चिंताजनक है। राहत की बात यह है कि भूकंप से किसी भारतीय को नुकसान होने की खबर नहीं है।

रबत स्थित भारतीय दूतावास के अनुसार, भूकंप के 36 घंटे बाद तक किसी भारतीय को नुकसान पहुंचने की सूचना नहीं मिली है। सभी भारतीयों को घरों और सुरक्षित स्थानों पर रहने तथा स्थानीय प्रशासन के दिशानिर्देशों का पालन करने के लिए कहा गया है। तीन करोड़ 71 लाख की आबादी वाले मोरक्को में 1,500 भारतीय रहते हैं।

भारतीय दूतावास ने भूकंप के बाद शनिवार को मोरक्को में रह रहे भारतीयों के लिए एडवाइजरी जारी की। साथ ही हेल्पलाइन नंबर जारी कर दूतावास के संपर्क में रहने के लिए कहा है। दूतावास ने मोरक्को में भूकंप पीड़ितों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की है और भारत की ओर से हर संभव मदद का आश्वासन दिया है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मोरक्को में प्राकृतिक आपदा पर शोक जता चुके हैं। संयुक्त राष्ट्र, फ्रांस, इजरायल, स्पेन और तुर्किये ने मोरक्को के लिए सहायता भेजने की घोषणा की है। भूकंप से सबसे ज्यादा 1,293 लोग अल हौज प्रांत में मारे गए हैं। इसी प्रांत में सबसे ज्यादा भवन ध्वस्त हुए हैं और नुकसान हुआ है।

विश्व धरोहरों में शुमार मारकेच ओल्ड सिटी को भारी नुकसान हुआ है। भूकंप से 12 वीं सदी की एक मस्जिद भी नष्ट हो गई है। इन स्थितियों में हजारों लोगों को रात और दिन खुले में गुजारने पड़ रहे हैं। उनके लिए खाने और जरूरी दवाओं की मुश्किलें खड़ी हो गई हैं।

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भूकंप से तीन लाख लोगों के प्रभावित होने की जानकारी दी है और उनके लिए खाद्य सामग्री व अन्य सुविधाओं की अविलंब आवश्यकता जताई है। बड़ी संख्या में ध्वस्त हुए भवनों के नीचे लोगों के दबे होने की आशंका है।

पर्वतीय इलाके में राहत और बचाव कार्य में दिक्कत आ रही है। वहां पर भारी उपकरणों के साथ बचाव दल अभी तक नहीं पहुंच पाए हैं। इन स्थितियों में मृतक संख्या बढ़ने की आशंका है।

अमेरिकी जियोलाजिकल सर्वे के मुताबिक, भूकंप का केंद्र पर्यटन के लिए मशहूर मरक्केश शहर से 71 किमी दूर दक्षिण-पश्चिम में 18.5 किमी की गहराई में रहा। यहां झटके स्थानीय समयानुसार आठ अक्टूबर की देर रात करीब 11.11 बजे महसूस किए गए। कुछ देर बाद ही इन जगहों पर भूकंप के आफ्टरशाक भी महसूस किए गए, जिनकी तीव्रता 4.9 मापी गई है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
E-Paper