मर्यादा उनसे सीखने की जरूरत नहीं, जिन्हें पिता और चाचा का अपमान करने में गुरेज नहीं

लखनऊ । समाजवादी पार्टी (सपा) बुंदेलखण्ड एक्सप्रेस वे को लेकर सरकार को लगातार घेरने में जुटी हुई है। इस पर सरकार के औद्योगिक विकास मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि हमें मानक और मर्यादा का पाठ उनसे सीखने की कतई आवश्यकता नहीं है जिन्होंने सत्ता के लिए अपने बुजुर्ग पिता और चाचा का अपमान करने में गुरेज नहीं किया।

योगी सरकार के मंत्री नंदी ने ट्वीट कर सपा मीडिया सेल को जवाब दिया कि, मिस्टर मिडिया सेल! ये जानकर खुशी हुई कि आपकी पार्टी में कोई ऐसा नेता नहीं बचा जो जवाब दे सके। हमें मानक और मर्यादा का पाठ उनसे सीखने की कतई आवश्यकता नहीं है जिन्होंने सत्ता के लिए अपने बुजुर्ग पिता और चाचा का अपमान करने में गुरेज नहीं किया। वहीं पिता जिन्होंने कभी मुख्यमंत्री की कुर्सी गिफ्ट की थी। उनकी बनाई पार्टी पर कब्जा कर जबरदस्ती स्वयंभू राष्ट्रीय अध्यक्ष बन गए।

नंदी ने कहा- देश-दुनिया में यूपी को एक्सप्रेस प्रदेश की नई पहचान मिली। ट्वीट में मंत्री नंदी ने लिखा कि हमने पांच सालों में विश्वस्तरीय पूर्वांचल और बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे तैयार कर प्रदेश की जनता को लोकार्पित कर दिया और गंगा एक्सप्रेस-वे का काम शुरू कर दिया। आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मार्गदर्शन और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में देश-दुनिया में उत्तर प्रदेश को एक्सप्रेस प्रदेश की नई पहचान मिली है।

ज्ञात हो कि सपा ने अपने ट्विटर पर लिखा था कि जिस बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का बड़े-बड़े विज्ञापन देकर ढोल नगाड़ों के साथ उद्घाटन करवाया, 5वें दिन ही बारिश में उसके घटिया निर्माण का दम निकल गया। सातवें दिन ही 5 किमी के दायरे में 3 जगह पैचवर्क सरकार के भ्रष्टाचार पर मुहर है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper