मां ने नवजात बच्चे को कूड़ेदान में फेंका, पुलिस से बोली-परवरिश नहीं कर सकती

 

चामराजनगर। कर्नाटक के चामराजनगर जिले में सोमवार को एक दिल दहला देने वाली घटना में मां ने अपने बच्चे को छोड़कर कूड़ेदान में फेंक दिया। बाद में वह यह कहते हुए पुलिस के पास आई कि वह असहाय है और बच्चे की परवरिश नहीं कर सकती। स्थानीय लोगों ने सुबह तड़के कोल्लेगल के पास मत्तीपुरा बस स्टॉप पर दो दिन के बच्चे को कूड़ेदान में पड़ा देखा। उन्होंने पुलिस को सूचित किया जो मौके पर पहुंची और बच्चे को स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को सौंप दिया।

इस घटना से सार्वजनिक आक्रोश फैल गया और लोगों ने नवजात बच्चे को कूड़ेदान में छोड़ने के लिए मां की निंदा की। गनीमत यह रही कि राहगीरों ने उस बच्चे को समय पर देख लिया, वरना गली के कुत्ते उसे नोंच डालते। मां बाद में पुलिस के सामने पेश हुई और दावा किया कि वह अकेली है, क्योंकि उसके पति ने उसे छोड़ दिया है और उसके पास आय का कोई साधन नहीं है।

मां ने आगे कहा कि वह बच्चे को पालने को तैयार नहीं है, क्योंकि वह बच्चे को पालने का खर्च नहीं उठा सकती। उसके दावों की पुष्टि करने के बाद, स्थानीय पुलिस ने बच्चे को उसे सौंप दिया। पुलिस ने उसे चेतावनी दी कि जब तक कोई गोद लेने वाला नहीं मिल जाता, तब तक वह बच्चे को नुकसान न पहुंचाए। इस संबंध में पुलिस अन्य विभागों से समन्वय स्थापित कर रही है। कोल्लेगल ग्रामीण पुलिस मामले को संभाल रही है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper