मुख्तार अब्बास नकवी ने मोदी मंत्रिमंडल से दिया इस्तीफा, पीएम ने की थी कैबिनेट की बैठक में तारीफ

नई दिल्ली: केंद्र सरकार में अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने अपना इस्तीफा दे दिया है। कैबिनेट मंत्री के तौर पर आज वह केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में शामिल हुए थे। इस बैठक की अध्यक्षता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कर रहे थे। मुख्तार अब्बास नकवी के इस्तीफे के कयास कई दिनों से लगाए जा रहे थे। दरअसल, मुख्तार अब्बास नकवी का राज्यसभा का कार्यकाल 7 जुलाई को संपन्न हो रहा है। भाजपा ने उन्हें इस बार हुए राज्यसभा चुनाव में उम्मीदवार नहीं बनाया था। इसके बाद कयास लगाए गए कि हो सकता है कि मुख्तार अब्बास नकवी को रामपुर से उपचुनाव में मैदान में उतारा जाए। लेकिन वह भी नहीं हुआ। ऐसे में आज मुख्तार अब्बास नकवी ने अपने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। मंत्री पद पर बने रहने के लिए किसी सदन का सदस्य होना जरूरी है।

मुख्तार अब्बास नकवी मोदी सरकार पार्ट वन और पार्ट 2 दोनों में मंत्री रहे हैं। सबसे बड़ा सवाल यही है कि आखिर मुख्तार अब्बास नकवी की आगे क्या भूमिका रहने वाली है? मुख्तार अब्बास नकवी भाजपा के वरिष्ठ नेताओं में से एक हैं। इतना ही नहीं, वह भाजपा के अल्पसंख्यक समुदाय से आने वाले नेताओं में सबसे वरिष्ठ भी हैं। वह लगातार मजबूती से भाजपा का पक्ष रखते हैं। मुख्तार अब्बास नकवी को लेकर यह भी दावा किया जा रहा है कि कहीं ना कहीं भाजपा उन्हें राष्ट्र उपराष्ट्रपति चुनाव में उम्मीदवार बना सकती है। हालांकि, मुख्तार अब्बास नकवी ने आज मंत्रिमंडल की बैठक में शामिल होने से पहले कल भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात भी की थी। भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा के साथ नकवी की क्या बातचीत हुई है, इसको लेकर अब तक आधिकारिक जानकारी नहीं मिल सकी है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक के दौरान देश व लोगों की सेवा के लिए केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी और राम चंद्र प्रसाद सिंह के योगदान की सराहना की। सूत्रों ने यह जानकारी दी। प्रधानमंत्री की सराहना को इस संकेत के रूप में देखा जा रहा है कि आज हुई केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक दोनों नेताओं के लिए आखिरी थी। दोनों नेताओं का राज्यसभा सदस्य के रूप में कार्यकाल सात जुलाई यानी बृहस्पतिवार को समाप्त हो रहा है। सूत्रों का कहना है कि दोनों नेता आज प्रधानमंत्री मोदी को अपना इस्तीफा सौंप सकते हैं। नकवी को भाजपा ने पिछले दिनों हुए राज्यसभा के द्विवार्षिक चुनाव में कहीं से उम्मीदवार नहीं बनाया था। आरसीपी सिंह जनता दल यूनाईटेड के कोटे से केंद्र सरकार में मंत्री थे। उन्हें भी जदयू ने अगला कार्यकाल नहीं दिया है। सूत्रों ने कहा कि मंत्रिमंडल की बैठक के बाद नकवी ने भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष जे पी नड्डा से मुलाकात की।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper