मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना का शुभारंभ, कोरोना में अनाथ हुए 4050 बच्चों की ऐसे मदद करेगी योगी सरकार

लखनऊ: आज उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के द्वारा सीएम बाल सेवा योजना की शुरुआत हुई है. इस योजना में कोरोना महामारी में अपने माता-पिता को खोने वाले निराश्रित-लावारिस बच्चों की सरकार मदद करेगी. यह योजना निराश्रित हुए बच्चों के पालन-पोषण, उनकी शिक्षा और सुरक्षित भविष्य के लिए तैयार की गई है. राज्यपाल आनंनदीबेन पटेल भी इस कार्यक्रम में मौजूद रहीं.

बता दें, सीएम बाल सेवा योजना के तहत 4050 बच्चों को लाभ मिलेगा. आंकड़ों के मुताबिक, राज्य में 240 बच्चे ऐसे हैं, जिनके माता-पिता दोनों की मृत्यु हो गई है. वहीं, 3810 बच्चे ऐसे हैं, जिनके माता या पिता में से किसी एक की कोरोना से जान चली गई है. नवजात से 18 साल तक के बच्चे, जिनके माता या पिता या दोनों ही कोरोना संक्रमण की चपेट में आकर चल बसे, उन्हें सीएम बाल सेवा योजना के तहत 4 हजार रुपये महीने की आर्थिक मदद मिलेगी. इसके अलावा, 11 से 18 साल तक के बच्चों को अटल आवासीय और कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालयों में फ्री एजुकेशन दिए जाने की भी योजना बनाई गई है.

वहीं, बता दें, कोरोना में अनाथ हुईं बच्चियों की शादी की उम्र आने पर इस योजना के तहत 1 लाख 1 हजार रुपये की आर्थिक मदद सरकार देगी. इसके अलावा, क्लास-9 या उससे ऊपर के 18 साल तक के बच्चों को टैबलेट या लैपटॉप भी आवंटित किए जाएंगे.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper