मूसेवाला हत्याकांड: सीबीआई ने गैंगस्टर के प्रत्यर्पण पर पंजाब पुलिस के दावे का खंडन किया

चंडीगढ़ । पंजाब पुलिस ने दावा किया कि उसने लॉरेंस बिश्नोई गिरोह की ओर से सिद्धू मूसेवाला की हत्या की जिम्मेदारी लेने के लिए गैंगस्टर गोल्डी बराड़ के प्रत्यर्पण के लिए रेड कॉर्नर नोटिस मांगा था, सीबीआई ने गुरुवार को स्पष्ट किया कि यह अपराध के बाद अनुरोध किया गया था। केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने कहा कि उन्हें पंजाब पुलिस की ई-मेल 30 मई को मिली, जिसमें 19 मई वाला लैटर भी अटैच था, जबकि सिद्धू मूसेवाला की हत्या 29 मई को हुई थी।

जांच एजेंसी के अनुसार, सतिंदरजीत सिंह उर्फ गोल्डी के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी करने का प्रस्ताव 30 मई को दोपहर 12.25 बजे पंजाब पुलिस के जांच ब्यूरो से ई-मेल के माध्यम से प्राप्त हुआ था। “30 मई के इस ई-मेल में, 19 मई का एक लैटर अटैच था। साथ ही, उसी प्रस्ताव की एक हार्ड कॉपी पंजाब पुलिस से आईपीसीयू, सीबीआई, नई दिल्ली में 30 मई को प्राप्त हुई थी। आईपीसीयू सीबीआई में यह अनुरोध भी 30 मई को प्राप्त हुआ था, जबकि सार्वजनिक क्षेत्र में जानकारी के अनुसार, सिद्धू मूसेवाला की हत्या 29 मई को हुई थी।”

इसमें कहा गया है, “पंजाब पुलिस ने कल (बुधवार) मीडिया के सामने पूरे तथ्य पेश नहीं किए। हमारी ओर से कोई देरी नहीं की गई।” इससे पहले, पंजाब पुलिस के एक प्रवक्ता ने कहा कि मूसेवाला की हत्या से 10 दिन पहले 19 मई को, उन्होंने बराड़ के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी करने का प्रस्ताव सीबीआई को पहले ही भेज दिया था, जिससे उसके भारत प्रत्यर्पण का मार्ग प्रशस्त होगा।

प्रस्ताव दो मामलों के आधार पर भेजा गया था, पहला दिनांक 12 नवंबर, 2020 और दूसरा 18 फरवरी, 2021।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper