राजस्थान के झालावाड में देह व्यापार के लिए नाबालिग की खरीद-फरोख्त, 5 महिलाओं समेत छह गिरफ्तार

झालावाड़ । देह व्यापार के लिए नाबालिग की खरीद-फरोख्त करने के आरोप में महिला थाना पुलिस ने 5 महिलाओं समेत 6 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इस मामले में थाना पुलिस द्वारा पूर्व में नाबालिक के माता-पिता को गिरफ्तार किया जा चुका है। जिन्होंने बचपन में ही पैसों की एवज में बच्ची का सौदा कर दिया था।

झालावाड़ एसपी ऋचा तोमर ने बताया कि अप्रैल 2022 में नाबालिक की मां ने उनके कार्यालय में पेश होकर एक परिवाद दिया। जिसने बताया कि 2 साल पहले वह शादी में गई थी, पीछे से उसकी नाबालिग बेटी को बूंदी निवासी बॉबी देवल, गुलासी बाई व सोहन कंजर घर से शादी करने का लालच देकर वेश्यावृत्ति के लिए बहला कर ले गए। रिपोर्ट पर थाना सदर में मुकदमा दर्ज किया गया।

अग्रिम कार्रवाई के लिए केस महिला थाना पुलिस को सौंपा गया था। अनुसंधान के दौरान टीम ने 15 मई को बालिका को दस्तयाब किया। जिससे पूछताछ में सामने आया कि उसके माता-पिता ने ही उसे बचपन में रुपए लेकर वेश्यावृत्ति के लिए शंकरपुरा निवासी गुलासी बाई, सोहन लाल, जन्नू बाई व राजेश कंजर को बेच दिया। जिन्होंने ऊंचे दाम लेकर उसे उसी गांव की कंचन बाई को बेच दिया। कंचन बाई ने भी आगे धौलपुर निवासी कलावती एवं धारा सिंह को बेच दिया।
वर्तमाम में कलावती एवं धारा सिंह की बेटी कीर्ति सिंह उसे विभिन्न जगहों पर भेज कर वेश्यावृत्ति करवाती है। मामले की गंभीरता को देख एसपी तोमर ने आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक महिला अपराध अनुसंधान सेल देवेंद्र सिंह राजावत व सीओ बृजमोहन मीणा के सुपर विजन एवं थानाधिकारी राजू उदयवाल के नेतृत्व में थाना महिला एवं साइबर सेल के एएसआई राजेश की एक टीम गठित की गई।

गठित टीम द्वारा 7 जुलाई को पीड़ित बालिका के माता पिता को गिरफ्तार किया गया था। गुरुवार को टीम ने आनंद नगर धौलपुर हाल नगर थाना कोतवाली जनपद प्रयागराज निवासी धारा सिंह कंजर (61), उसकी पत्नी कलावती (55) एवं बेटी कीर्ति (34) के अलावा शंकरपुरा जिला बूंदी निवासी जन्नूबाई (45), गुलासी बाई (53) एवं कंचन बाई (62) को गिरफ्तार किया गया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper