रूहेलखंड विश्वविद्यालय में विधि शोध छात्र राम विलास चौधरी का शोध वायवा प्रस्तुतीकरण

बरेली ,10 मर्ई । विधि विभाग , एम जे पी रुहेलखंड विश्वविद्यालय बरेली के सेमिनार हाल में कल विधि शोध छात्र राम विलास चौधरी का शोध वायवा प्रस्तुतिकरण हुआ, जिसमें बाहय परीक्षक के रूप में प्रो. फरीद खान विधि विभाग वार्ष्णेय कॉलेज अलीगढ़ उपस्थित थे।शोधार्थी ने शीर्षक “डेवलपमेंट ऑन आर्टिकल 356 आफ्टर एस आर बोम्मई जजमेंट : ए क्रिटिकल एनालसिस “पर शोध प्रोफेसर डी . के . सिंह के निर्देशन में अपना पूरा किया, शोधार्थी द्वारा राज्यों में आपात लागू किए जाने से सम्बंधित विधि बनाने वा संवैधानिक उपबंधो के संशोधन को लेकर सुझाव दिया गए इसके अन्यथा विधि विभाग में एल.एल.एम चतुर्थ स्मेस्टर ( ह्यूमन राइट ) ,एल.एल.एम चतुर्थ स्मेस्टर ( साइबर लॉ), डिप्लोमा इन साइबर लॉ वा डिप्लोमा इन ह्यूमन राइट्स सेकेंड सेमेस्टर का डिसर्टेशन वायवा संपन्न कराया गया ।

संपूर्ण कार्यक्रमों को विभागाध्यक्ष एवम रिसर्च कोर्डिनेटर डॉ अमित सिंह के निर्देशन में पूरा कराया गया । इस अवसर विधि संकाय अध्यक्ष प्रोफेसर अजय कुमार सिंह, प्रोफ़ेसर डी. के. सिंह बरेली कॉलेज बरेली, प्रो. गुरमीत सिंह के. जे. के. कॉलेज मुरादाबाद उपस्थित रहे व विभाग के अन्य शिक्षकगण डा शहनाज अख्तर, ,” नईमुद्दीन, अमित कुमार सिंह, डॉ अनु शर्मा, डॉ लक्ष्य लता, प्रियदर्शनी, रविकर यादव,अनुष्का मूलचंदानी,राष्ट्रवर्धन, नेहा दिवाकर ,श्रद्धा एलएलएम के विधार्थी , शोधार्थी वा अन्य कर्मचारी गण उपस्थित रहे।

बरेली से अखिलेश चन्द्र सक्सेना की रिपोर्ट

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
E-Paper