लापता तोता ढूंढने वाले को 50 हजार रुपये के इनाम की घोषणा की, कहां पर

तुमकुरु । यहां के एक परिवार ने तोता पाला हुआ था, जो खो गया है। तोते खोने से परेशान परिवार ने तोता ढूंढने वाले को 50 हजार नकद इनाम की घोषणा की है। एक पशु कार्यकर्ता और पक्षी के मालिक रवि के अनुसार, उनके परिवार ने तुमकुरु जिले के जयनगर इलाके में अपने घर पर दो अफ्रीकी ग्रे तोतों का पालन-पोषण किया। ‘रुस्तूमा’ नाम का एक तोता 16 जुलाई से लापता है।

परिवार ने पोस्टर छपवाए हैं और आस पास के इलाकों में चस्पा किये हैं। जिसमें कहा गया है कि “गलती से यह उड़ गया है। मैं यहां के लोगों से अनुरोध करता हूं कि वे बालकनियों, छतों और पेड़ों की शाखाओं पर अपने परिवेश का निरीक्षण करें। यह दूर नहीं जा सकता।”

परिवार के सदस्यों का ‘रुस्तूमा’ से गहरा नाता है। उन्होंने कहा, “हम दर्द सह नहीं पाए हैं। मैं सभी से जानकारी देने का अनुरोध करता हूं या अगर कोई पक्षी वापस लौटाता है, तो उसे मौके पर ही 50,000 रुपये नकद दिए जाएंगे।”

उन्होंने कहा, “मैं पशु अधिकार संगठनों के लिए कर रहा हूं। तोते के साथ हमारे परिवार का खास लगाव है। हम इसे बहुत याद कर रहे हैं। हमने पक्षी के साथ शानदार समय बिताया है।”

परिवार हर साल दोनों तोतों का जन्मदिन धूमधाम से मनाता रहा है। तोते के साथ परिवार का जुड़ाव और खोए हुए तोते को खोजने और वापस पाने के उनके प्रयास ने राज्य में लोगों और पशु प्रेमियों को हिला दिया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper