साड़ी पहनकर 80 साल की बुजुर्ग महिला ने मैराथन में लगाई ऐसी दौड़, देखकर उड़े लोगों के होश

नई दिल्ली। जिन लोगों को रनिंग करना पसंद है, वह मैराथन जैसे रेस में हिस्सा लेना पसंद करते हैं. हर उम्र के लोग दौड़ में हिस्सा लेते हैं और अपनी सेहत का ख्याल रखने के लिए जागरुक करते हैं. टाटा मुंबई मैराथन के इस साल के संस्करण में 55,000 से अधिक लोगों ने हिस्सा लिया था. इस साल विभिन्न प्रकार के महत्वपूर्ण सामाजिक मुद्दों का समर्थन करने के लिए मुंबई में कई क्षेत्रों के लोग एक साथ दौड़ में शामिल हुए. मैराथन में भाग लेने वालों में विभिन्न आयु के लोग शामिल रहे, जिनमें युवा, विकलांग और वृद्ध नागरिक शामिल थे. भारती नाम की एक 80 वर्षीय महिला उन धावकों में से एक थीं, जिन्होंने मैराथन में अपनी भागीदारी से सुर्खियां बटोरीं.

भारती की पोती डिंपल मेहता फर्नांडिस ने अपने मैराथन में दौड़ने का एक वीडियो इंस्टाग्राम पर अपलोड किया ताकि उनके परिवार और दोस्त इसे देख सकें. वीडियो में, भारती नाम की एक बुजुर्ग महिला राष्ट्रीय ध्वज के साथ साड़ी और एक जोड़ी जूते पहनकर मैराथन दौड़ती हुई दिखाई दे रही हैं. भारती ने 51 मिनट में 4.2 किलोमीटर दौड़ लगाई. डिंपल ने वीडियो को शेयर करते हुए कैप्शन दिया, “इस रविवार को टाटा मैराथन में भाग लेने वाली मेरी 80 वर्षीय नानी की दृढ़ इच्छाशक्ति और धैर्य से बहुत प्रेरित हूं.” वीडियो में एक इंटरव्यू का एक क्लिप भी है जिसमें वह कहती है कि वह छठी बार मैराथन दौड़ रही हैं और वह इसके लिए हर दिन अभ्यास करती हैं.

उन्होंने कहा कि वह चाहती थी कि हर कोई जाने कि वह भारतीय है और उसे अपनी संस्कृति पर गर्व है, इसलिए वह दौड़ के दौरान तिरंगा लेकर चल रही थी. वृद्ध महिला ने यह भी सुझाव दिया कि युवा लोग दौड़ने और अन्य जोरदार व्यायाम करके अधिक व्यायाम करें. इंटरनेट पर लोगों ने फिटनेस के प्रति उनकी प्रतिबद्धता से प्रेरणा लेते हुए उनके उत्साह की प्रशंसा की. वार्षिक टाटा मुंबई मैराथन हर जनवरी के तीसरे रविवार को होती है. COVID-19 प्रतिबंधों के कारण दो साल तक स्थगित रहने के बाद यह आयोजन किया गया था.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
-----------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper