साल का अंतिम Chandr Grahan 08 नवंबर को, जानें सूतक काल समय

Chandr Grahan देश के कई हिस्सों में आंशिक तौर पर दिखाई देगा, जबकि पूर्वी हिस्सों में स्पष्ट तौर पर देखा जा सकेगा. स्थान और काल के आधार पर चंद्र ग्रहण (Chandr Grahan) के प्रारंभ समय में अंतर हो सकता है, लेकिन समापन हर जगह एक ही समय पर होगा.

तिरूपति के ज्योतिषाचार्य डॉ कृष्ण कृमार भार्गव कहते हैं कि चंद्र ग्रहण का सूतक काल ग्रहण समय से 09 घंटे पहले ही प्रारंभ हो जाता है. जिस स्थान पर ग्रहण प्रारंभ का जो समय होगा, उससे 09 पूर्व से सूतक काल की गणना करनी चाहिए.

Chandr Grahan 2022 समय
दिल्ली में 08 नवंबर को चंद्र ग्रहण का समय शाम 05 बजकर 32 मिनट पर है. इस समय से चंद्र ग्रहध प्रारंभ होगा और इसका समापन शाम 06 बजकर 18 मिनट पर होगा. ग्रहण के प्रारंभ से लेकर मोक्ष तक का समय ग्रहण काल कहलाता है.

चंद्र ग्रहण 2022 सूतक काल का समय
धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, चंद्र ग्रहण का सूतक काल 09 घंटे पहले शुरू होगा. ऐसे में 08 नवंबर को चंद्र ग्रहण का सूतक काल सुबह 09 बजकर 21 मिनट से प्रारंभ हो जाएगा. स्थान के आधार पर सूतक काल के प्रारंभ समय में अंतर संभव है.

यह ग्रहण कार्तिक पूर्णिमा को लग रहा है. कार्तिक पूर्णिमा 07 नवंबर को शाम 04:15 बजे से शुरू होकर 08 नवंबर को शाम 04:31 बजे तक है.

चंद्र ग्रहण 2022 सूतक काल में क्या न करें
सूतक काल के समय में सभी तरह के शुभ और मांगलिक कार्य नहीं करते हैं. ये वर्जित होते हैं. इनको करने से शुभ फल प्राप्त नहीं होते हैं.
इस समय में पूजा पाठ और धार्मिक कार्य बंद होते हैं. सूतक काल में मंदिरों के कपाट भी बंद कर देते हैं.
सूतक काल में खाना नहीं खाना चाहिए. ऐसी मान्यता है कि इस समय का भोजन दूषित हो जाता है.
इस समय में सोना भी वर्जित होता है. लेकिन रोगी, बालक और वृद्ध व्यक्तियों को इससे छूट प्राप्त है.
ग्रहण काल और सूतक काल के समय में गर्भवती महिलाओं को घर से बाहर जाने की मनाही होती है और उन्हें नुकीली वस्तुओं का उपयोग नहीं करना चाहिए.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper