FD पर तगड़ा ब्याज दे रहा है ये बैंक, मैच्योरिटी से पहले भी निकाल सकते हैं पैसा, नहीं देना होगा कोई जुर्माना

नई दिल्ली। सुरक्षित निवेश की चाह किसको नहीं होती। एफडी को निवेश का सबसे सुरक्षित जरिया माना जाता है। ऐसे में बैंक ग्राहकों को लुभाने के लिए अपनी एफडी ब्याज दरों में लगातार बदलाव करते रहते हैं। बंधन बैंक ने Bulk FD पर अपनी ब्याज दरों में संशोधन कर दिया है। नवीनतम संशोधन के तहत, बैंक ने 3.25 फीसद से 7.25 फीसद ब्याज की पेशकश की है।

बंधन बैंक ने समयपूर्व निकासी सुविधा के साथ थोक एफडी रेट्स रिवाइज किए हैं। इसका मतलब यह है कि अगर मैच्योरिटी से पहले आप एफडी को तोड़कर पैसा निकलते हैं तो आपको कोई पेनाल्टी नहीं देनी होगी। हां, इतना जरूर है कि समय से पहले पैसा निकालने पर ब्याज दर थोड़ी कम हो जाएगी।

समय से पहले निकासी की सुविधा के बिना एक साल से अधिक की एफडी पर 7.7 प्रतिशत की दर से ब्याज दिया जाएगा। बैंक ने थोक FD की सीमा 2 करोड़ से लेकर 50 करोड़ या उससे अधिक तय की है।

बैंक 365 दिनों से 15 महीने से कम की बल्क एफडी पर 7.25% की ब्याज दर ऑफर कर रहा है।
91 दिनों से 364 दिन और 15 महीने से 5 साल से कम की एफडी पर ब्याज की दर 6% है।
46 दिनों से लेकर 90 दिनों तक की अवधि के लिए FD पर 5.05% की दर से ब्याज मिल रहा है।
7 दिनों से लेकर 45 दिनों तक की छोटी अवधि में इन FD पर ब्याज दर 3.25% से 3.75% के बीच है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper