Ganesh Chaturthi 2022: बप्पा को करना है खुश तो लगाएं मोदक का भोग, जाने रेसिपी

 

नई दिल्ली: इस साल गणेश चतुर्थी 31 अगस्त से शुरू हो रही है। गणेश जी को विनायक, विघ्नेश्वर, गणपति, लंबोदर के नाम से भी जाना जाता हैं। यदि आपके घर भी गणेश जी विराज रहे हैं तो उनकी विधि विधान से पूजा करें और उनकी सेवा करें। दूर्वा और मोदक गणेश जी को सबसे प्रिय हैं। इनमें व्यंजन मोदक और लड्डू तो उन्हें विशेष प्रिय है।

जानिये मोदक बनाने की रेसिपी

सामग्री चावल का आटा- 2 कप गुड़- 1.5 कप कच्चा नारियल- 2 कप काजू- 4 टेबल स्पून किशमिश- 2-3 टेबल स्पून खसखस- 1 टेबल स्पून इलाइची- 5-6 घी- 1 टेबल स्पून नमक- आधी छोटी चम्मच

मोदक की रेसिपी: 1 गुड़ और नारियल को कढा़ई में डाल कर गर्म करें. जब गुड़ पिघलने लगे तो चम्मच से लगातार चला कर भून लें। मिश्रण खूब गाढा़ हो जाए तो इसमें काजू, किशमिश, खसखस और इलाइची मिलाएं। मोदक में भरने के लिये पिट्ठी तैयार है।

दो कप पानी में 1 छोटी चम्मच घी डाल कर गर्म करें। पानी में उबाल आने पर गैस बंद कर दें। चावल का आटा और नमक पानी में डाल कर चम्मच से चलाकर मिलाएं। इस मिश्रण को 5 मिनट के लिये ढक कर रख दें।

अब चावल के आटे को एक बड़े बर्तन में निकाल कर हाथ से नरम आटा गूथ लें। यदि आटा सख्त लग रहा हो तो 1-2 टेबल स्पून पानी डाल कर और थोड़ा सा घी हाथों में लगाकर आटे को मसल कर नरम कर लें। साफ कपड़े से ढक कर रख दें।

हाथ को घी से चिकना करें और गुथे हुए चावल के आटे से एक नीबू के बराबर आटा निकाल कर हथेली पर रखें। दूसरे हाथ के अंगूठे और उंगलियों से उसके किनारों को पतला करते हुए बढ़ा लें। अब इसमें उंगलियों से थोड़ा सा गड्ढा करें और उसमें 1 छोटी चम्मच पिट्ठी रख कर अंगूठे और उंगलियों की सहायता से मोड़ डालते हुए ऊपर की तरफ चोटी का आकार देते हुए बंद कर दें। सारे मोदक इसी तरह तैयार कर लें।

किसी चौड़े बर्तन में 2 छोटे गिलास पानी डाल कर गरम करें। उस पर जाली स्टैंड लगा दें। अब जाली के ऊपर मोदक रख कर ढंक दें। 10-12 मिनट तक भाप में पकने दें। थोड़ी देर बाद जब मोदक चमकदार लगने लगें तो वे तैयार हो गए। गरमा गरम परोस कर खाएं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper