इमरान खान पर कसा शिकंजा, ‘देशद्रोह’ के आरोप में करीबी गिरफ्तार; अब ब्रिटेन में पार्टी के खिलाफ जांच शुरू

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान के एक करीबी सहयोगी को मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया गया। उन्हें एक निजी टेलीविजन चैनल पर इंटरव्यू के दौरान कथित रूप से राजद्रोह संबंधी बयान देने के मामले में गिरफ्तार किया गया है। इससे पहले चैनल के प्रसारण पर भी रोक लगा दी गई। पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के नेता शहबाज गिल ने सोमवार को एआरवाई के एक समाचार कार्यक्रम में भाग लिया था और पूर्व प्रधानमंत्री को सेना के खिलाफ दर्शाने के लिए शहबाज शरीफ सरकार की तीखी आलोचना की थी।

पाकिस्तान के इलेक्ट्रॉनिक मीडिया नियामक प्राधिकरण ने चैनल पर प्रसारित सामग्री को ‘झूठा, नफरत फैलाने वाला और राजद्रोह’ बताते हुए उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया। प्राधिकरण ने कहा कि साक्षात्कार ‘पूरी तरह भ्रामक सूचना के साथ सशस्त्र बलों में विद्रोह को उकसाकर राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए स्पष्ट रूप से खतरा पैदा किया गया।’’ खान से करीबी संबंध रखने वाले चैनल का प्रसारण रोक दिया गया। इसके बाद गिल को गिरफ्तार किया गया।

इस्लामाबाद पुलिस के प्रवक्ता ने कहा कि खान के प्रवक्ता गिल को देश की संस्थाओं के खिलाफ बयानबाजी करने तथा लोगों को विद्रोह के लिए उकसाने के मामले में गिरफ्तार किया गया है। इस बीच पीटीआई अध्यक्ष खान ने गिल की गिरफ्तारी को ‘अगवा करने’ की संज्ञा दी है। उन्होंने कहा, ‘‘यह अपहरण है, गिरफ्तारी नहीं। क्या किसी लोकतंत्र में ऐसी शर्मनाक हरकतें हो सकती हैं? राजनीतिक कार्यकर्ताओं को दुश्मन समझा जाता है।’’ पीटीआई के उपाध्यक्ष फवाद चौधरी ने ट्वीट किया, ‘‘शहबाज गिल को बिना नंबर प्लेट वाली कार में आए अज्ञात लोगों ने बानिगाला चौक से पकड़ा।’’

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper