कांग्रेस शासित राज्यों में हम भाजपा दफ्तरों की घेराबंदी करें तो यह क्या कहेंगे : CM गहलोत

नई दिल्ली/जयपुर । कांग्रेस मुख्यालय में दिल्ली पुलिस के जबरन घुसने और नेताओं के साथ बदसलूकी करने मामले पर कांग्रेस के नेताओं ने केंद्र सरकार को आड़े हाथों लिया है। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गेहलोत ने यहां तक कह दिया कि जिन राज्यों में कांग्रेस की सरकार है और उधर यदि भााजपा दफ्तर की घेराबंदी करा दें, तब यह क्या कहेंगे? दिल्ली पुलिस के घुसने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए सीएम गहलोत ने कहा, “इन सभी अधिकारियों पर कार्रवाई होनी चाहिए। कानून और संविधान से ही देश चलता है, तभी लोग सुरक्षित महसूस करते हैं। यदि कानून का राज कम होगा तो भुगतना कभी न कभी किसी को तो पड़ेगा ही।”

“विपक्ष के सभी नेताओं को एक साथ मिलकर बातचीत करनी चाहिए और गृहमंत्री तक अपनी बात पहुंचाना चाहिए। जहां सरकार कांग्रेस की है और यदि बीजेपी दफ्तरों पर यह आदेश जारी कर दें कि सिर्फ 10 लोग ही जाएंगे, उस दफ्तर की घेराबंदी कर ले या पुलिस उनके दफ्तरों में घुसकर पत्रकारों को भगा दें और कार्यकर्ताओं पर कार्रवाई करे फिर इनकी तरफ से क्या कहा जाएगा?”

उन्होंने आगे कहा, बुधवार को जो कांग्रेस दफ्तर में हुआ है उस पर देश भर के तमाम कांग्रेस कार्यकर्ताओं में गुस्सा है और कहां पर गलती हुई है गृहमंत्री को इसकी जांच करानी चाहिए? क्या आप सभी राज्यों में यह छूट देते हैं कि जिन की सरकारें हैं वह आपके दफ्तरों को इसी तरह से कार्रवाई करें?

राहुल गांधी से ईडी की पूछताछ पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मुख्यालय पर प्रदर्शन किया जिस दौरान दिल्ली पुलिस और कार्यकर्ताओं की झड़प भी देखने को मिली इसी कार्रवाई के दौरान दिल्ली पुलिस कांग्रेस मुख्यालय के दफ्तर में घुस गई और कार्यकतार्ओं को हिरासत में लेने लगी जिसका विरोध कांग्रेस कर रही है।

इसके अलावा राहुल गांधी से इस ईडी की पूछताछ तीसरे दिन पूरी हो गई, वहीं अब उन्हें शुक्रवार को पूछताछ में शामिल होना होगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper