खाने में ज्यादा नमक से होता है हड्डियों को नुकसान, इन चीजों से भी होती है कैल्शियम की कमी

मानवीय शरीर (Human Body) में आहार की विशेष महत्ता होती है। कहावत है की जैसा खाएं अन्न वैसा होगा मन, अर्थात आपके द्वारा ग्रहण किया जाने वाला आहार आपके शारीरिक स्वास्थ्य ही नहीं मानसिक प्रसन्नता और अप्रसन्नता का भी कारक होता है। आहार में पोषक तत्वों (Nutrients) की कमी जहां शारीरिक बेहतरी को दुष्प्रभावित करती है, वहीं कुछ चीजों के आवश्यकता से अधिक सेवन से भी शरीर को नुकसान होता है।

स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार भोजन में आवश्यकता से अधिक नमक के प्रयोग से हड्डियों को नुकसान पहुँचता है। अधिक नमक का सेवन शरीर में कैल्शियम की मात्रा को कम करता है, जिससे हड्डियां धीरे-धीरे गलने लगती हैं। इसके साथ ही हड्डियों से संबंधित ऑस्टियोपोरोसिस नामक बिमारी का खतरा भी ज्यादा नमक के सेवन से बढ़ जाता है।

हड्डियां मनुष्य सहित किसी भी स्तनपायी जीव की शारीरिक संरचना का एक महत्वपूर्व और अनिवार्य हिस्सा है। कैल्शियम और विटामिन डी से भरपूर खाद्य पदार्थों के सेवन से जहां हड्डियों में मजबूती आती है, वहीं कई खाद्यानों के सेवन से हड्डियों को भारी नुकसान पहुंचने की भी संभावना रहती है। अधिक नमक के सेवन के साथ ही कॉफी, कोल्ड्रिंक और शराब-सिगरेट के सेवन से भी हड्डियों को काफी ज्यादा नुकसान पहुँचता है, जिनसे बचने की सलाह स्वस्थ्य विशेषज्ञ देते हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper