गाड़ी में भूलकर भी न करें इन चीजों का इस्तेमाल, हो सकती है बड़ी दुर्घटना

नई दिल्ली। हम अक्सर गाड़ी के अंदर कई ऐसी चीजों का इस्तेमाल करते हैं, जिसके कारण भारी नुकसान हो जाता है। गाड़ी के केबिन को शानदार बनाने और एक अच्छा ड्राइविंग एक्सपीरिएंस लेने के लिए कुछ एक्सेसरीज या फिर कुछ काम को केबिन के अंदर नहीं करना चाहिए। उन सभी बातों का जिक्र हम इस खबर के माध्यम से करने जा रहे हैं, जिसको केबिन के अंदर अपनाने से बचना चाहिए।

गाड़ी को अंदर से और भव्य बनाने के लिए कई लोग हैंगिंग एक्सेसरीज का इस्तेमाल करते हैं। दुर्घटना के दौरान इन एक्सेसरीज से जान जाने का खतरा बढ़ जाता है। हैंगिंग एक्सेसरीज की वजह से कई बार विजिबिलिटी की समस्या आ जाती है। कई ऐसे मामले सामने आ चुकी हैं जिनमें हैंगिंग एक्सेसरीज की वजह से विजिबिलिटी की समस्या आई और फिर कार एक्सीडेंट का शिकार हो गई। ऐसे में इन एक्सेसरीज से बचना चाहिए।

कई लोगों को गाड़ी के अंदर स्मोकिंग करते हुए देखा जा सकता है। ऐसा करने पर केबिन के अंदर का माहौल तो खराब होता ही है साथ ही साथ साथ बैठे पैसेंजर भी पैसिव स्मोकिंग के शिकार होते हैं। अगर अधिक तलब लग रही है तो बेहतर होगा कि आप गाड़ी के बाहर स्मोकिंग करें।

डैशबोर्ड डेकोरेशन से भी सामने की विजिबिलिटी पर असर होता है। और लंबे समय तक इसके इस्तेमाल के बाद गाड़ी के अंदर की शोभा भी धीरे-धीरे खत्म होने लगती है। इसलिए, इससे हर एक गाड़ी मालिक को बचना चाहिए।

स्टेयरिंग को और भी कंफर्ट बनाने के लिए लोग उसमें कलरफुल कवर लगवा देते हैं। हालांकि, इससे कई नुकसान भी होते

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper