चाइनीज मांझा से गला कटने के बाद, दिल्ली में 30 वर्षीय व्यक्ति की मौत

नई दिल्ली । राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में चीनी मांझा (पतंग की डोरी) से गला कटने के बाद 30 वर्षीय एक व्यक्ति की मौत हो गई, इस बात की जानकारी एक अधिकारी ने बुधवार को दी। चीनी मांझा पतंग उड़ाने में इस्तेमाल होने वाला धागा है, हालांकि इसके निर्माता इसके ऊपर कांच की कोटिंग का इस्तेमाल करते हैं जो कई बार इंसानों और पक्षियों के लिए जानलेवा साबित होते हैं।

दिल्ली सरकार ने 2017 में कांच की परत वाली पतंगों के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगा दिया था। मृतक की पहचान दिल्ली के रोहिणी निवासी सुमित रंगा के रूप में हुई है। पुलिस उपायुक्त (उत्तर-पश्चिम) उषा रंगनानी ने कहा कि मौर्य एन्क्लेव पुलिस स्टेशन में एक व्यक्ति के बारे में कॉल आई थी, जो हैदरपुर फ्लाईओवर पर एक तार से घायल हो गया था।

डीसीपी ने कहा, “घायल व्यक्ति को सरोज अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया।” पूछताछ के दौरान मृतक के पिता ने बताया कि उसका बेटा सुमित बुराड़ी से अपनी मोटरसाइकिल से घर आ रहा था और जब वह हैदरपुर फ्लाईओवर पर पहुंचा तो एक तार उसके गले में फंस गया। पुलिस ने कहा कि, उन्होंने भारतीय दंड संहिता की धारा 304 ए के तहत मामला दर्ज किया है और मामले की जांच जारी है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper