जाने कौन हैं सुभाषिनी यादव, जो शरद यादव की राजनीतिक विरासत को आगे बढ़ाएगी

नई दिल्ली। सात बार के लोकसभा सांसद, वरिष्ठ समाजवादी नेता व जदयू के पूर्व अध्यक्ष शरद यादव का 75 साल की उम्र में निधन हो गया है। वह गुरुग्राम के फोर्टिस अस्पताल में भर्ती थे। उनके निधन की सूचना उनकी बेटी सुभाषिनी यादव की तरफ से दी गई। उन्होंने ट्विटर पर लिखा- ‘पापा नहीं रहे’। इसके बाद राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू से लेकर प्रधानमंत्री मोदी व अन्य बड़े नेताओं ने उनके निधन पर शोक जताया।

शरद यादव के निधन के बाद इस बात की चर्चा हो रही है कि उनकी राजनीतिक विरासत को आगे कौन बढ़ाएगा? ऐसे में एक नाम बार-बार सामने आ रहा है सुभाषिनी यादव।

शरद यादव की बेटी सुभाषिनी राजनीति में काफी सक्रिय हैं। वह कांग्रेस पार्टी से भी जुड़ी हुई हैं और उन्हें राहुल गांधी और प्रियंका गांधी का काफी करीबी माना जाता है। इन दिनों वह कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा में भी नजर आ रही हैं। अपने पिता शरद यादव से राजनीति सीखने वाली सुभाषिनी 2020 में कांग्रेस पार्टी में शामिल हो गई थीं। सुभाषिनी के अलावा शरद यादव का एक बेटा भी है।

कांग्रेस ने 2020 विधानसभा चुनाव में सुभाषिनी यादव को मधेपुरा की बिहारीगंज विधानसभा सीट से प्रत्याशी बनाया था। राहुल गांधी खुद उनके लिए प्रचार करने भी पहुंचे थे। हालांकि, सुभाषिनी चुनाव हार गईं। उनकी शादी भी हरियाणा के एक राजनीतिक परिवार में हुई है।

अगस्त, 2017 में नीतीश कुमार से अनबन के बाद शरद यादव जदयू से अलग हो गए थे। उन्होंने इसके बाद लोकतांत्रिक जनता दल का गठन किया था।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
-----------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper