जैकलीन फर्नांडिस की बढ़ सकती है मुश्किलें, 215 करोड़ की रंगदारी मामले में ED ने बनाया आरोपी, दाखिल करेगी चार्जशीट

मुंबई: रंगदारी के मामले में बॉलीवुड अभिनेत्री जैकलीन फर्नांडिस की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही है। ED ने 215 करोड़ रुपये की रंगदारी के मामले में जैकलीन फर्नांडिस को आरोपी बनाया हैं और आज उनके खिलाफ चार्जशीट दाखिल करेगी। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, ED का मानना है कि जैकलीन को पहले से ही पता था ठग सुकेश एक अपराधी और जबरन वसूली करने वाला है।

बता दें कि, बॉलीवुड एक्ट्रेस जैकलीन फर्नांडिस का जबसे महाठग सुकेश चंद्रशेखर संग कनेक्शन सामने आया है, तबसे से वे कानूनी पचड़े में फंसी हुई हैं। ED ने जैकलीन पर पूरी तरह से शिकंजा कसा हुआ है। वहीं, अब ED ने एक्ट्रेस को 215 करोड़ रुपये की रंगदारी के मामले में आरोपी बता दिया है।ED आज एक्ट्रेस के खिलाफ चार्जशीट दाखिल करेगी।

जानकारी के मुताबिक, सुकेश ने जैकलीन को 10 करोड़ रुपये के कीमती गिफ्ट्स दिए थे। ED ने एक्ट्रेस की 7 करोड़ से अधिक की संपत्ति भी अटैच की है। ऐसा भी बताया गया है कि सुकेश ने जैकलीन के फैमिली मेंबर्स को भी महंगे तोहफे दिए थे। परिवार को दिए गए तोहफों में कार, महंगे सामान के अलावा 1.32 करोड़ और 15 लाख के फंड्स भी शामिल थे।

बता दें कि, जैकलीन काफी समय से ED की रडार पर हैं। मामले की जांच के बाद ईडी ने जैकलीन पर अपना शिकंजा कसते हुए उन्हें आरोपी बता दिया है। पहले ऐसा बताया गया था कि ठग सुकेश ने दिल्ली की जेल में बंद रहते हुए एक महिला से 215 करोड़ रुपये ठगे थे। इसके बाद सुकेश ने जैकलीन को उन्हीं जबरन वसूली के पैसों से करोड़ों के महंगे तोहफे दिए थे। गिफ्ट्स में डायमंड, जूलरी, 52 लाख का घोड़ा समेत कई दूसरे महंगे तोहफे भी शामिल थे। बताया गया था कि सुकेश ने ये सारा पैसा लोगों को ठग कर कमाया था।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper