झारखंड में स्वाइन फ्लू ने दस्तक, रांची में तीन लोगों में एच1एन1 वायरस मिला

झारखंड (Jharkhand) में स्वाइन फ्लू (Swine Flu) ने दस्तक दी है. राजधानी रांची (Ranchi) में तीन लोगों के एच1एन1 फ्लू (H1N1 Virus) यानी स्वाइन फ्लू से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है. इसके बाद से ही झारखंड में स्वास्थ्य विभाग अलर्ट हो गया है. झारखंड में अफ्रीकन स्वाइन फ्लू की दस्तक (swine flu in Jharkhand) ने स्वास्थ्य विभाग के माथे पर शिकन ला दी है. रांची के अलावा बोकारो और गिरिडीह में भी स्वाइन फ्लू का मामला सामने आया है.

झारखंड में स्वाइन फ्लू के मामले को देखते हुए हुए स्वास्थ्य विभाग हाई अलर्ट पर है. राज्य महामारी विज्ञान के नोडल पदाधिकारी डॉ. प्रवीण कर्ण ने कहा कि स्वाइन फ्लू (एच1एन1) इन्फ्लूएंजा के चार मरीज मेडिका हॉस्पिटल में भर्ती हैं. उन्होंने कहा कि इनमें दो रांची, एक गिरिडीह और एक बोकारो से हैं. हालांकि उन्होंने बताया कि डिस्ट्रिक्ट सर्विलांस यूनिट के द्वारा एक बार फिर से जांच कराई जाएगी.

डॉ. कर्ण ने कहा कि वर्तमान में रांची रिम्स के माइक्रोबायोलॉजी विभाग और एमजीएम जमशेदपुर में एच1एन1(N1H1) स्वाइन फ्लू की जांच की व्यवस्था है. कोरोना जांच की तरह ही इसमें भी नाक और मुंह का स्वाब लिया जाता है. वहीं, स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठ अधिकारी भुवनेश प्रताप सिंह ने बताया कि राज्य में जो भी मरीज पाए गए हैं, उनके इलाज की बेहतर व्यवस्था की गई है. स्वास्थ्य विभाग की तरफ से पदाधिकारियों को दिशा निर्देश दिए गए हैं.

उन्‍होंने बताया कि राज्य वासियों के स्वास्थ्य को लेकर विभाग गंभीर है वर्तमान में 3 मरीज ठीक हो गए हैं. स्वाइन फ्लू को लेकर राज्यवासियों को भयभीत होने की आवश्यकता नहीं है. H1N1 फ्लू, यानी स्वाइन फ्लू वायरस के H1N1 स्ट्रेन के कारण होता है. H1N1 एक प्रकार का इन्फ्लूएंजा ए वायरस है और H1N1 कई फ्लू वायरस मौसमी फ्लू का कारण बन सकता है. एच1एन1 फ्लू के लक्षण मौसमी फ्लू के समान ही होते हैं. इसमें बुखार, खांसी, गले में खराश, शरीर में दर्द, नाक बहना, सिरदर्द, ठंड लगना और थकान शामिल हैं.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper