डायबिटीज में मीठा खाने का मन करे, तो इन चीजों का करें सेवन, नहीं बढ़ेगा ब्लड शुगर लेवल

नई दिल्‍ली। ऐसे काफी सारे लोग हैं जिन्हें मीठा (sweet) खाना बेहद पसंद होता है। खासतौर पर वो लोग जो डायबिटीज का शिकार होते हैं फिर भी उनका मन मीठे की ओर खींचा चला जाता है। लेकिन अपनी डायबिटीज (diabetes) के चलते वो अक्सर अपने मन को मार लेते हैं। क्योंकि उन्हें मीठा खाना सख्त मना होता है। तो वहीं कुछ लोग ऐसे भी हैं जो डायबिटीज के बाद मीठे के नाम से भी दूर भागते हैं।

लेकिन ऐसा कब तक चलेगा। तो अब घबराने की नहीं बल्कि समझने की जरूरत है कि आप अपने मीठे खाने का इलाज किन चीज़ों से कर सकते हैं। हांलाकि आपको ऐसा करने से पहले कुछ खास बातों का ख्याल रखना होगा। अगर आप डायबिटीज के मरीज हैं और आपका मीठा खाने का मन कर रहा है तो आप कुछ चीजों का सेवन आसानी से कर सकते हैं। तो चलिए जानते हैं कि आखिर कौन सी हैं वो चीज़ें जिनसे डायबिटीज के मरीज अपनी मिठास की प्यास को भुजा सकते हैं।

डायबिटीज में इन मीठी चीजों का कर सकते हैं सेवन
फल
डायबिटीज के मरीज सभी तरह फलों का सेवन कर सकते हैं। फलों(fruits) से आपके शरीर को कई जरूरी तत्व मिलते हैं। लेकिन फलों का सेवन करते वक्त इसकी मात्रा का खास ख्याल रखें। यानी कोई भी फल आधे या फिर एक से ज्यादा ना हो। अगर आप ज्यादा फल का सेवन करते हैं तो ये आपके लिए परेशानी का कारण बन सकता है।
स्मूदी
यदि आप डायबिटीज के मरीज है और आपका कुछ मीठा खाने की जगह कुछ मीठा पीने का मन है तो आप फलों से बनी स्मूदी पी सकती है। बस इस बात का खास ध्यान रखें कि इसमें शुगर (Sugar) की मात्रा बेहद कम हो।

हलवा
डायबिटीज के मरीज हलवा का भी सेवन कर सकते हैं। सही सुना आपने, हांलाकि इसको केवल नाश्ते में ही लें और इस बात का ध्यान रखें कि इसमें शुगर की मात्रा बेहद कम हो।

डार्क चॉकलेट
डार्क चॉकलेट में बाकि चॉकलेटों की तुलना में चीनी की मात्रा काफी कम होता है। इसे खाने से डायबिटीज के मरीजो के शुगर लेवल बढ़ने का कोई खतरा नहीं होता है। आप इसके एक से दो स्लाईस खा सकते हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper