तमिलनाडु: राहुल गांधी ‘भारत जोड़ो यात्रा’ से पहले पिता राजीव गांधी के शहीद स्मारक पहुंचे

नई दिल्ली: कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की अगुवाई में आज कांग्रेस की 3570 किलोमीटर लंबी भारत जोड़ो यात्रा की कन्याकुमारी से शुरुआत हो रही है। इस यात्रा की शुरुआत से पहले राहुल गांधी ने तमिलनाडु स्थित पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के स्मारक स्थल पहुंचे और यहां पुष्प अर्पित करके श्रद्धांजलि दी। राहुल गांधी के साथ यहां पर कांग्रेस के अन्य दिग्गज नेता भी पहुंचे थे। कांग्रेस का कहना है कि इस यात्रा का चुनाव से कोई लेना-देना नहीं है। इसका मकसद सिर्फ देश को जोड़ना है। पार्टी के प्रवक्ता जयराम रमेश ने कहा कि यह परिवर्तनकारी क्षण है।

कांग्रेस की इस भारत जोड़ो यात्रा की बात करें तो यह 150 दिनों तक चलेगी और इस दौरान कुल 3570 किलोमीटर की दूरी तय की जाएगी। यात्रा में शामिल यात्री किसी भी होटल में नहीं ठहरेंगे और ये लोग कंटेनर में ही रात गुजारेंगे। कुल 60 कंटेनर को इस यात्रा से जोड़ा गया है। जिसमे सोने के लिए बिस्तर, टॉयलेट और एसी की व्यवस्था है। सुरक्षा कारणो से राहुल गांधी इन कंटेनर में नहीं रुकेंगे, वह अकेले एक कंटेनर में रुकेंगे, जबकि बाकी लोग साझा कंटेनर में ठहरेंगे।

इन कंटनेर को यात्रा के दौरान रास्ते में पड़ने वाले गांव में पार्क किया जाएगा। यात्री खाना सड़क पर ही खाएंगे। उन्हें लॉन्ड्री की सुविधा भी हर तीसरे दिन मुहैया कराई जाएगी। यात्रों के दौरान मौसम में बदलाव को देखते हुए भी इंतजाम किए गए हैं। पांच महीने की इस यात्रा में हर मौसम के लिहाज से इंतजाम किए गए हैं। यात्रा में शामिल यात्री हर रोज 6-7 घंटे पैदल चलेंगे। यात्री दो बैच में यात्रा पर निकलेंगे, पहले बैच में सुबह 7-8.30 बजे और दोपहर में 3.30 बजे से शाम 6.30 बजे तक निकलेंगे।

रूट मैप के अनुसार भारत जोड़ो यात्रा में 20 अहम जगहें, कन्याकुमारी, तिरुवनंतपुरम, कोच्चि, नीलांबुर, मैसूर, बेल्लारी, रायचूर, विकराबाद, नांदेड़, जलगांव, जमोद, इंदौर, कोटा, दौसा, अलवर, बुलंदशहर, दिल्ली, अंबाला, पठानकोट, जम्मू, श्रीनगर शामिल हैं। केरल में यह यात्रा 18 दिन तक रुकेगी, कर्नाटक में 21 दिन, रुकेगी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper