न्यूड फोटोज ने बढ़ाई Ranveer Singh की मुश्किलें, ‘महिलाओं की भावनाएं आहत’ करने का आरोप

मुंबई: बॉलीवुड एक्टर रणवीर सिंह ने जबसे न्यूड फोटोशूट करवाया है, वह सुर्खियों से जाने का नाम नहीं ले रहे हैं. पहले फोटोज वायरल हुईं, फिर मीम बने, रणवीर की पत्नी दीपिका पादुकोण का रिएक्शन आया और फिर सेलेब्स से भी एक्टर की न्यूड फोटोज पर उनकी राय पूछी गई. अब रणवीर सिंह के खिलाफ मुंबई पुलिस को एक शिकायत दी गई है.

पुलिस को मिली इस शिकायत में रणवीर सिंह पर ‘महिलाओं की भावनाओं को आहत करने’ का इल्जाम लगाया गया है. रणवीर सिंह के न्यूड फोटोशूट की तस्वीरें सामने आने के बाद से वह विवादों में बने हुए हैं. इस फोटोशूट के वायरल होने के बाद इसे लेकर राजनीति भी शुरू हो गई है. समाजवादी पार्टी महाराष्ट्र चीफ अबु आजमी ने ट्वीट कर रणवीर सिंह के इस फोटोशूट पर सवाल उठाया था. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा था कि पब्लिक के सामने न्यूड होना ‘आर्ट’ और ‘आजादी’ है, तो हिजाब पहनना ‘दबाव डालना’ क्यों है?

इसके अलावा एक के बाद एक सेलेब्स के रिएक्शन भी रणवीर सिंह के न्यूड फोटोज पर आ रहे हैं. अर्जुन कपूर, दीपिका पादुकोण और पूनम पांडे के बाद अब आलिया भट्ट ने भी इसपर बात की है. फिल्म ‘डार्लिंग्स’ के ट्रेलर लॉन्च पर आलिया से उनकी राय पूछी गई थी. इसपर उन्होंने कहा कि अपने फेवरेट एक्टर के बारे में वह कुछ भी ऐसा नहीं सुनेंगी. ना ही ऐसे सवाल को बर्दाश्त करेंगी.

अपने न्यूड फोटोशूट को लेकर रणवीर सिंह को ट्रोल्स का सामना भी करना पड़ा है. इस फोटोशूट की तस्वीरें वायरल होने के बाद सोशल मीडिया यूजर्स ने रणवीर का मजाक उड़ाना शुरू कर दिया था. एक्टर की ट्रोलिंग पर उनके बेस्ट फ्रेंड अर्जुन कपूर सामने आए थे. अर्जुन ने कहा था कि रणवीर ने जो भी किया वो उनकी मर्जी है. उनको जो सहज लगता है वह करते हैं और हमें उनकी इज्जत करनी चाहिए.

मैगजीन को इंटरव्यू देते हुए रणवीर सिंह ने कहा था कि उन्हें इस बात से फर्क नहीं पड़ता कि लोग उनके फैशन और कपड़ों के बारे में क्या करते हैं. वह जो पसंद करते हैं उसी को पहनते हैं, वही खाना खाते हैं. अगर दूसरों को इससे दिक्कत है तो वह भाड़ में जा सकते हैं.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper