पति ने पत्नी की बच्चा सहित हत्या कर शव को गंगा में फेंका, जाने पूरा मामला

शेखपुरा. बिहार में एक शख्स ने अपनी पत्नी और चार महीने के बेटे की हत्या करने के बाद लाश को गंगा नदी में फेंक दिया. हत्या की वजह पत्नी का देवर के साथ अवैध संबंध बताया जाता है. मामला का खुलासा पुलिस ने किया तो चौंकाने वाली बातें सामने आईं. घटना के संबंध में एसपी ने बताया कि मृतका को पति के रहते ही अपने देवर से प्यार हो गया था जो कि पति को नागवार लगा. इसी कारण पति-पत्नी के बीच विवाद होने लगा और आखिरकार पति ने पत्नी के साथ बच्चे की भी हत्या कर दी.

पति से झगड़े के बाद पत्नी मायके चली गई थी लेकिन इसी बीच आरोपी पति ने अपने एक दोस्त के साथ हत्या की साजिश रच डाली. पति अपनी पत्नी को मायके से लेकर ससुराल आया और फिर रात में नशे का इंजेक्शन पत्नी और बच्चे को दिया जिससे पत्नी और बच्चा बेहोश हो गये. इसके बाद रात में ही एंबुलेंस से पति दोनों को मुंगेर ले गया और अपने दोस्त के सहयोग से पत्नी और चार महीना के बेटे को गंगा नदी में फेंक दिया. इस घटना को अंजाम देने के बाद वो घर पहुंचा और पत्नी के भाग जाने की सूचना सभी को दी.

घटना के बाद मृतका के पिता ने शेखपुरा थाना में गुमशुदगी का केस दर्ज किया गया. एसपी ने इस पूरी घटना की जांच के लिए एक टीम का गठन किया जिसमे कई बिंदु पर जांच की गई और पति द्वारा पत्नी और बच्चे की हत्या करने की पूरी कहानी सामने आई. एसपी ने बताया कि झारखंड के बोकारो की रहने वाली दिव्या कुमारी की शादी शेखपुरा के आशीष कुमार के साथ एक-दो वर्ष पूर्व हुई थी. दोनों ने प्रेम संबंध के बाद लव मैरेज किया था.

शादी के बाद से दोनों ठीक से ही रह रहे थे लेकिन इसी बीच आशीष का छोटा भाई अपनी भाभी को दिल दे बैठा. दोनो में बढ़ता रिश्ते आशीष को नागवार लगने लगा और भाई के साथ पत्नी के बीच बढ़ते प्यार की कहानी आखिर मौत का कारण बनी. एसपी ने बताया कि इस केस में हत्यारे पति और एंबुलेंस चालक को गिरफ्तार कर लिया गया है. सभी को जेल भेजने की कार्रवाई की जा रही है.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper