पीपल के पत्तो में है कई आयुर्वेदिक गुण, उबालकर पीने से होंगे चमत्कारी लाभ

आयुर्वेद में पीपल की जड़ और छाल का प्रयोग कई बीमारियों के इलाज में किया जाता है लेकिन क्या आप जानते है पीपल के पत्ते से भी आपको कई स्वास्थ लाभ मिल सकते है ?

हिन्दू धर्म में पीपल को काफी पूजनीय माना जाता है। पीपल की धार्मिक मान्यताओं के साथ साथ आयुर्वेदिक और वैज्ञानिक महत्त्व भी है। आयुर्वेद में कई बीमारियों के इलाज के लिए इसकी छाल और जड़ का प्रयोग किया जाता है क्योकि इसमें कई औषधीय गुण पाए जाते है। पीपल के पत्ते का प्रयोग भी कई तरह की बीमारियों में किया जाता है। इसके पत्ते को उबाल कर पीने से कई स्वास्थ सम्बन्धी समस्याओ में आराम मिलता है।

इसमें पाए जाने वाले पोषक तत्वों की अगर बात करते हैं तो पीपल के पत्ते में प्रोटीन, कैल्शियम, फाइबर, आयरन, कॉपर एंटीडायबिटिक, मैग्नीज, एंटी-इन्फ्लेमेटरी, एंटी-एम्नेसिक, एंटीऑक्सीडेंट्स, एंटीबैक्टीरियल, गुणों से भरपूर होता है।

-पीपल के पत्ते उबाल कर पीने से शरीर से सभी विषैले पदार्थ बाहर निकल जाते हैं। इससे शरीर की पाचन शक्ति बढ़ती है।

-पीपल के पत्तो को उबालकर पीने से शरीर का शुगर लेवल कंट्रोल में रहता है। इसके साथ बैड कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल करने में भी पीपल का पत्ता उबालकर पीने से बहुत फायदा पहुंचता है। यह बीपी कंट्रोल करने में भी काफी मददगार है।

-इसके साथ ही पीपल के पत्ते को उबाल कर पीने से किडनी भी हेल्थी रहती है। यह मेमोरी पावर भी बढ़ता है और आपके फेफड़ो को भी स्वस्थ रखता है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper