धर्मलाइफस्टाइल

पैदाइशी धनवान होते हैं ऐसे लोग, जिनके हाथ में होती है ऐसी रेखा और ये निशान

नई दिल्ली. धनवान बनने की चाहत हर किसी की होती है. भौतिवादी युग में अमूमन हर कोई करोड़पति और अरबपति बनने का सपना देखता है. हस्तरेखा शास्त्र में हथेली की कुछ ऐसी रेखाओं का जिक्र किया गया है जो धनवान बनने का संकेत देती हैं. आइए जानते हैं कि हथेली की कौन-कौन सी रेखाएं धनवान बनने का संकेत देती हैं.

धनवान बनने का संकेत देती हैं ये रेखाएं और निशान:
–हस्तरेखा शास्त्र के मुताबिक हथेली का शनि पर्वत जीवन में धन की स्थिति को दर्शाती है. अगर शनि पर्वत शुभ स्थिति में है और कोई अशुभ चिह्न नहीं है तो यह अच्छे धन का संकेत देता है. इसके अलावा अगर शुक्र पर्वत भी शुभ स्थिति में है तो जातक को जीवन में अच्छा धन प्राप्त होता है. वहीं अगर हथेली में शनि पर्वत पूरी तरह से खाली है तो जातक को जीवन में धन की कमी बनी रहती है. हस्तरेखा शास्त्र के मुताबिक शनि पर्वत की ओर उठी हुई रेखा अच्छा संकेत देती है. ये इस बात का संकेत देता है कि जीवन में भाग्य के साथ-साथ धन का भी साथ मिलेगा.

–हस्तरेखा शास्त्र के मुताबिक हथेली में मस्तिष्क रेखा और बुद्धि रेखा है तो यह अच्छा संकेत है. अगर जीवन रेखा से निकलकर कोई रेखा सीधे शनि पर्वत तक पहुंच जाए तो व्यक्ति धनवान बनता है. इसके अलावा ऐसे लोग अरबपति भी बनते हैं. हालांकि इस रेखा के साथ शनि पर्वत का अच्छा होना भी जरूरी है.

–अगर जीवन रेखा को पार करते हुए कोई रेखा शुक्र पर्वत से निकलकर शनि पर्वत पर पहुंच जाए तो ऐसे लोग पैदाइशी करोड़पति या अरबपति होते हैं. इसके अलावा इन रेखाओं के योग के साथ ही जीवन रेखा के से निकलकर कोई रेखा सूर्य पर्वत तक पहुंच जाए तो व्यक्ति जीवन में अरबपति होता ही है. वहीं अगर इन रेखाओं के बीच गुरु पर्वत पर तिल का निशान हो तो यह अशुभ संकेत है. ऐसे लोग कुछ ही पलों में करोड़ों रुपए को बर्बाद कर देते हैं.

–हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार अगर हथेली में रेखाएं शुभ स्थिति में हैं और नाखूनों पर छोटे-छोटे चंद्रमा के निशान बने हुए हैं तो ये शुभ संकेतक है. ये चिह्न जीवन में प्रगति का संकेत देते हैं. वहीं अगर ये निशान बृहस्पति पर्वत की उंगली में है तो सरकारी नौकरी मिलने की संभावना प्रबल होती है.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
E-Paper