फर्जी डिग्री मामले में SRK यूनिवर्सिटी के कुलपति गिरफ्तार, सुनील कपूर को मिली अग्रिम जमानत

भोपाल । फर्जी डिग्री (fake degree) बेचने के मामले में हैदराबाद पुलिस ने मध्‍यप्रदेश की राजधानी भोपाल में बड़ी कार्रवाई की है। हैदराबाद पुलिस ने भोपाल के आरकेडीएफ (Ram Krishna Charitable Foundation) यूनिवर्सिटी के कुलपति एमसी प्रशांत पिल्लई, (Vice Chancellor MC Prashant Pillai) इंजीनियरिंग कॉलेज के प्रिंसिपल एमके चोपड़ा और पूर्व कुलपति एसएस कुशवाह सहित तीन को गिरफ्तार किया है। इन पर यूनिवर्सिटी की फर्जी डिग्री हैदराबाद में छात्रों को उपलब्ध कराने का आरोप है।

बता दें कि हैदराबाद में आरकेडीएफ ग्रुप की एसआरके यूनिवर्सिटी की फर्जी डिग्री का मामला दर्ज है। इस मामले में पुलिस ने फरवरी 2022 में यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर केतन सिंह को पकड़ा था। केतन ने पुलिस को यूनिवर्सिटी के फर्जी रैकेट के बारे में बहुत से जानकारी उपलब्ध कराई। उसने लाखों रुपए में फर्जी डिग्री बांटने के बदले उसे बहुत छोटी राशि मिलने और यूनिवर्सिटी के शीर्ष पर बैठे लोगों को मोटी रकम मिलने की बात कही थी। जिसके बाद हैदाराबाद पुलिस ने जांच में जुटी। इस मामले में दो दिन पहले हैदराबाद से पुलिस भोपाल आई थी। पुलिस ने एसआरके यूनिवर्सिटी के कुलपति एमसी प्रशांत पिल्लई, पूर्व कुलपति एसएस कुशवाह और आरकेडीएफ कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग के प्रिसिंपल डॉ. एमके चोपड़ा को गिरफ्तार कर पुलिस हैदराबाद लेकर गई ।

वहीं, एक अन्य वीसी डॉ. सुनील कपूर को अग्रिम जमानत दे दी गई, हैदराबाद पुलिस द्वारा जांच फरवरी 2022 में शुरू हुई जब फर्जी डिग्री रैकेट के संबंध में शैक्षिक सलाहकारों और एसआरके विश्वविद्यालय, भोपाल के प्रबंधन के एजेंटों के खिलाफ मलकपेट, आसिफ नगर मुशीराबाद और चादरघाट पुलिस स्टेशनों में 4 मामले दर्ज किए गए। आरोप है कि वे बिना किसी परीक्षा या उपस्थिति के और पैसा लेकर छात्रों को फेक डिग्री दे रहे थे।

2017 से बांटी गईं 101 डिग्रियां
पुलिस सूत्रों ने जानकारी दी कि साल 2017 से SRK यूनिवर्सिटी ने लगभग 101 फेक सर्टिफिकेट्स स्टूडेंट्स को पैसे के बदले दिए हैं, इसमें से पुलिस ने 44 सर्टिफिकेट्स को स्टूडेंट्स से सीज कर दिया है, इनमें से 13 सर्टिफिकेट बीटेक और बीई कोर्सेज के हैं, जबकि बाकी 31 सर्टिफिकेट्स एमबीए, बीएससी आदि के हैं। पुलिस को अपनी जांच में फर्जी बीटेक डिग्री 2.50 से 3 लाख रुपए, बीए और बीकाम के लिए 1 से 1.50 लाख रुपए, बीएससी के लिए 1.50 से 2 लाख रुपए और एमबीए की डिग्री के लिए 3 लाख रुपए तक वसूलने की जानकारी मिली है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper