बेटी के कोचिंग की फीस भरने के लिए इलेक्ट्रिशियन पिता ने बेच दी जमीन,बेटी ने अफसर बनकर बढ़ाया पिता का मान

कहते हैं जब कुछ पाने का जुनून हो तो लाख कठिनाई भी हमारा रास्ता नहीं रोक सकती. कुछ पाने के लिए जो हम लगातार कोशिश करते हैं तो मुश्किलें तो जरूर आती है रास्ते में लेकिन कुछ ऐसी शख्सियत होती है जो इन मुश्किलों से लड़ते हुए अपनी मंजिल की तरफ लगातार आगे बढ़ती रहती है. कुछ लोग ऐसे होते हैं जो तब तक मेहनत करते हैं जब तक उन्हें सफलता हासिल नहीं हो जाती. आज हम आपको एक ऐसे ही लड़की की कहानी बताने वाले हैं जिन्होंने अपनी मुश्किलों और आर्थिक परेशानियों से लड़ते हुए आईएएस अफसर बनने का सपना पूरा कर दिखाया.

आज हम आपको उर्वशी सेंगर की कहानी बताने वाले हैं जिन्होंने अपने रास्ते में आने वाले तमाम कठिनाइयों से लड़ते हुए अपने सपने को पूरा किया.UPSC 2020 में उनकी 532वीं रैंक आयी है.उन्हें इंडियन ऑडिट एंड अकाउंट सर्विसेज मिला है.

तीसरे अटेम्पट में मिली सफलता-
ग्वालियर के हजीरा में रहने वाले रविंद्र सिंगर के तीन बेटी है. उन्होंने अपनी शुरुआती पढ़ाई ग्वालियर से ही किया उसके बाद उन्होंने ग्रेजुएशन भी यहीं से किया. उन्होंने नेट की परीक्षा भी क्वालीफाई किया है. आईएएस अफसर बनने की तैयारी करने के लिए वह दिल्ली गई लेकिन वह अधिकतर समय अपनी तैयारी अपने घर से ही की.

सबसे पहले उन्होंने 2017 में एग्जाम दिया उसके बाद उन्होंने 2019 में एग्जाम दिया लेकिन दोनों ही बार वह प्री एग्जाम भी पास नहीं कर पाई. उन्होंने यू पी पी एस सी के एग्जाम दी. उन्हें एसडीएम का पोस्ट मिला लेकिन उन्होंने ज्वाइन नहीं किया. हर हाल में आईएएस अफसर बनना चाहती थी.

कोचिंग की फीस भरने के लिए पिता ने बेच दी जमीन –
उर्वशी ने बताया कि जब हुआ दिल्ली में रहकर पढ़ाई करती थी तब वह ज्यादा समय रिश्तेदारों के घर ही रही. उन्होंने बताया कि उनके पास कोचिंग का फीस भरने के लिए पैसे नहीं थे इसलिए उन्होंने रिश्तेदारों के घर पर रहा. उन्होंने बताया कि जब वह किराए के मकान पर रहने लगे तब उन्हें किराया करने के लिए कोचिंग में नौकरी भी करनी पड़ी थी. जब उन्होंने यूपीएससी की कोचिंग में एडमिशन लिया था उनके पिता के पास एक जमीन थी जो उनके पिता ने उनकी पढ़ाई के लिए बेच दी.

उर्वशी ने बताया कि टाइम मैनेजमेंट बहुत ही जरूरी है. आप कभी यह मत सोचिए कि लोग क्या कह रहे हैं अगर आप ठान ले तो जरूर उस सपने को पूरा कर दिखाइए. अपने आप को कब मत आखिए और लगातार कोशिश करते रहिए.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper