मुंबई की आदालत ने नाबालिग से यौन शोषण के आरोपी को सुनाई सजा, 3 साल कठोर कारावास

मुंबई: मुंबई की एक विशेष अदालत ने साड़ी की दुकान पर काम करने वाले 23 वर्षीय एक ‘सेल्समैन’ को परिधानों के ‘ट्रायल’ में मदद करने के बहाने नाबालिग ग्राहक का यौन शोषण करने और उसका शील भंग करने के मामले में दोषी ठहराते हुए उसे तीन साल कठोर कारावास की सजा सुनाई है। हालांकि, ‘सेल्समैन’ ने कहा था कि लड़की की मां ने उसे मामले में झूठा फंसाया है, क्योंकि उसने उसे खरीदी गई साड़ियों की कीमतों में छूट देने से इनकार कर दिया था।

विशेष न्यायाधीश अनीस ए. जे. खान ने इस सप्ताह की शुरुआत में पारित आदेश में कहा कि एक मां सिर्फ छूट पाने के लिए अपनी नाबालिग बेटी के शील को दांव पर नहीं लगा सकती। न्यायाधीश ने कहा, मामले में पेश किए गए सबूत विश्वसनीय और भरोसा करने लायक हैं।

यह मामला वर्ष 2016 का है। पीड़िता ने दुकान से बाहर निकलने के बाद अपनी मां को घटना की जानकााी दी थी, जिसके बाद पीड़िता के माता-पिता ने पुलिस में इसकी शिकायत दर्ज कराई थी। अब इस मामले में न्यायालय का फैसला आने के बाद भविष्य में ऐसी गलती करने से डरेंगे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper