मोहाली में RPG हमला: SFJ ने ली जिम्मेदारी, अब तक 20 संदिग्ध गिरफ्तार

मोहाली: पंजाब के मोहाली में पुलिस के इंटेलिजेंस हेडक्वार्टर्स पर हुए हमले को लेकर बड़ी खबर है। कथित तौर पर प्रतिबंधित संगठन सिख फॉर जस्टिस ने हमले की जिम्मेदारी ली है। सोमवार को पुलिस कार्यालय पर रॉकेट प्रोपेल्ड ग्रेनेड (RPG) अटैक किया गया था, जिससे इमारत को नुकसान पहुंचा था। इसके बाद पुलिस ने मंगलवार को जांच तेज की थी और अटैक के तार पाकिस्तान से जुड़े होने की खबरें सामने आई थी।

रिपोर्ट के अनुसार, एक असत्यापित वॉयस मैसेज के जरिए संगठन ने हमले की जिम्मेदारी ली है। रिपोर्ट के अनुसार, पुलिस का कहना है कि SFJ के गुरपतवंत सिंह के कहे जा रहे हमले की जिम्मेदारी लेते हुए वॉयस मैसेज को वेरिफाई कर लिया गया है। मोहाली एसएसपी विवेक शील सोनी ने कहा, ‘हम मामला सुलझाने के बेहद करीब हैं।’ जांच के दौरान 18-20 संदिग्धों को गिरफ्तार किया गया है।

RPG हमले के एक दिन बाद ही मंगलवार को पुलिस ने मोहाली में हाई अलर्ट जारी कर दिया था। फिलहाल, जांचकर्ता अधिक सुराग जुटाने के लिए मुख्यालय के क्षेत्र में मौजूद तीन मोबाइल टॉवर से ‘6 हजार से 7 हजार मोबाइल डेटा डंप’ की जांच कररहे हैं। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पुलिस को शक है कि RPG हमले के लिए शायद स्विफ्ट कार का इस्तेमाल किया गया है।

जांच में रफ्तार लाने के लिए NIA, NSG और सेना ने भवन का निरीक्षण किया। मंगलवार को डीजीपी वीके भावरा ने राज्य के इंटेलिजेंस ऑफिसर्स, एसएसपी सोनी और अन्य अधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने पत्रकारों को बताया, ‘हमारे पास लीड्स हैं और हम जल्दी मामले को सुलझा लेंगे। जांच जारी है और सही समय पर जानकारियां साझा की जाएंगी।’ मोहाली एसपी (मुख्यालय) रविंद्र पाल सिंह ने कहा कि यह साफ हो गया है कि हमले में शामिल आतंकियों की पंजाब पुलिस के खुफिया तंत्र पर हमला करने की साजिश थी।’ मोहाली पुलिस ने IPC की धारा 307, UAPA की धारा 16 समेत कई धाराओं में अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
--------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper