रिटायर होने से पहले पीएफ खाते से निकालना चाहते हैं सारा पैसा, जानें किन हालातों में मिलता है आपका पाई-पाई

नई दिल्ली. एंप्लाई प्रोविडेंट फंड, एक लॉन्ग टर्म इन्वेस्टमेंट टूल है, जो कर्मचारी, नियोक्ता और कुछ मामलों में सरकार के योगदान से बनाया गया है. आसान भाषा में कहें तो पीएफ एक सोशल सिक्योरिटी प्रोग्राम है जो एंप्लाई प्रोविडेंट फंड ऑर्गेनाइजेशन यानी ईपीएफओ द्वारा चलाया जाता है.

जब कर्मचारी रिटायर होते हैं तो उन्हें वित्तीय सुरक्षा के साधन के रूप में इसका उपयोग करते हैं. स्पेसिफाइड ब्याज के साथ वर्षों से पीएफ खाते में जमा राशि का भुगतान कर्मचारी को उसके रिटायरमेंट पर किया जाता है.

ईपीएफओ से पूरा पैसा निम्नलिखित शर्तों पर निकाला जा सकता है-
>> रिटायरमेंट के समय
>> अगर 2 महीने से बेरोजगार हैं.
>> रिटायरमेंट की आयु से पहले कर्मचारी की मृत्यु के मामले में नॉमिनेटेड व्यक्ति द्वारा

हालांकि, कोरोना वायरस महामारी के बीच ईपीएफओ ने वित्तीय कठिनाइयों का सामना कर रहे लोगों के लिए कई निकासी नियमों को संशोधित किया. नए नियमों में कहा गया है कि पीएफ खाताधारक अपने मूल वेतन के तीन महीने के बराबर और महंगाई भत्ता या अपने पीएफ खाते में नेट बैलेंस का 75 फीसदी, जो भी कम हो, के बराबर पैसा निकाल सकते हैं. लॉकडाउन या छंटनी के कारण रिटायरमेंट से पहले बेरोजगारी का सामना करने वाले व्यक्ति को पीएफ फंड निकालने की अनुमति देने के लिए एक महत्वपूर्ण बदलाव किया गया था.

>> ईपीएफओ के मेंबर को unifiedportal-mem.epfindia.gov.in पर लॉग इन करना होगा.
>> Services टैब के तहत For Employees ऑप्शन चुनें.
>> नए वेबपेज पर Member UAN/Online Service ऑप्शन पर क्लिक करें.
>> UAN, पासवर्ड और कैप्चा कोड का उपयोग कर पोर्टल पर लॉग इन करें.
>> Manage टैब के तहत KYC ऑप्शन चुनें.
>> आप एक नए वेबपेज पर चले जाएंगे. पेड के निचले हिस्से में Digitally Approved KYC सेक्शन खोजें और अपने केवाईसी विवरणों की जांच करें. सुनिश्चित करें कि विवरण सही हैं.
>> निकासी को पूरा करने के लिए, टॉप मेनू पर जाएं और Online Service चुनें.
>> ड्रॉपडाउन मेन्यू सेCLAIM ऑप्शन पर क्लिक करें.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
-----------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper