धर्मलाइफस्टाइल

सफल होना हो तो गांठ बांध लें चाणक्य की ये 3 बातें

आचार्य चाणक्य प्राचीन काला में सर्वश्रेष्ठ समाजशास्त्री, अर्थशास्त्री, नीति शास्त्री और राजनीतिज्ञ माने जाते हैं। आज भी उनकी नीतियों की चर्चा दुनिया भर में होती हैय़ आचार्य चाणक्य ने अपने अनुभवों को नीति शास्त्र के जरिए लोगों तक पहुंचाने की कोशिश की।

आचार्य चाणक्य ने अपने निजी अनुभव के आधार पर लोगों को कैसे बेहतर जिंदगी जी जाए और सफलता पाया जाए का उल्लेख किया है। साथ नीति शास्त्र में चाणक्य ने लोगों को जिंदगी में अच्छी और बुरी चीजों में अंतर के कई ज्ञान की लोगों बताया है। जिसे अपना कर व्यक्ति अपनी जिंदगी में सफल हो सकता है।

आचार्य चाणक्य अपनी नीति शास्त्र में कहते हैं कि व्यक्ति को जिंदगी में सफलता के लिए मेहनत के साथ-साथ सही रास्ते पर पर चलना भी जरूरी है। चाणक्य कहते है कि सफता के लिए मेहनत, लगन और किस्मत का साथ होना जरूरी है।

नीति शास्त्र में कहा गया है कि जो व्यक्ति पैसों का कद्र नहीं करता, मेहनत करने से बचता है और दान करने में कंजूसी करता है उसके पास धन की देवी मां लक्ष्मी नहीं रुकती हैं और वह जल्द ही मालामाल से कंगाल हो जाता है।

नीति शास्त्र में चाणक्य कहते हैं कि जो कोई व्यक्ति पैसों (धन) का सम्मान नहीं करता और फिजूल खर्च पैसे को पानी की तरह बहाता है उसे कंगाल होने से कोई नहीं रोक सकता है। ऐसे में व्यक्ति के पास कितना भी धन क्यों न हो उसे पैसे संभाल कर खर्च करना चाहिए। संभाल कर पैसों को खर्च करने वाले व्यक्ति को कभी भी तंगहाली का सामना नहीं करना पड़ता।

 

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
E-Paper