हमारी बात हल्के में न लें, कुछ भी कर सकते हैं: पुतिन

मास्को। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन का अंदाज एक बार फिर आक्रामक हो गया है। उन्होंने रूस में सेना के मोबिलाइजेशन का आदेश दिया है। उन्होंने पश्चिमी देशों को चेतावनी देते हुए कहा कि हमारी बात को हल्के में न लें। पुतिन ने कहा कि हम रूस की रक्षा के लिए कुछ भी करने के लिए तैयार हैं। पुतिन ने फिलहाल 3 लाख अतिरिक्त सैनिकों के मूवमेंट का आदेश दिया है।

आज बुधवार को व्लादिमीर पुतिन ने टीवी पर प्रसारित भाषण में यह बात कही। इससे पहले मंगलवार को ही खबर आई थी कि यूक्रेन के पूर्वी और दक्षिणी हिस्से में रूस रेफरेंडम की तैयारी कर रहा है। रूस की इस तैयारी का पश्चिमी देशों ने विरोध किया था और कहा था कि ऐसा करने से तनाव बढ़ेगा।

दरअसल रूस ने 4 क्षेत्रों को मिलाने की योजना बनाई है और उसके तहत रेफरेंडम का प्लान बनाया है। शुक्रवार से लुहान्सक, खेरसन और दोनेत्सक समेत 4 प्रांतों में रेफरेंडम की शुरुआत होनी है। कहा जा रहा है कि रूस के इशारे पर यह रेफरेंडम हो रहा है और उसके बाद इन प्रांतों को कब्जाने की ओर से रूस कदम बढ़ा सकता है।

इस बीच पुतिन ने पश्चिमी देशों पर आरोप लगाया कि वह न्यूक्लियर ब्लैकममेल कर रहा है। उन्होंने कहा कि नाटो देशों के नेताओं ने जिस तरह से न्यूक्लियर ब्लैकमेलिंग करने वाले बयान दिए हैं, उससे पता चलता है कि वे रूस के खिलाफ परमाणु हथियारों का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

व्लादिमीर पुतिन ने पश्चिमी देशों को चेतावनी देते हुए कहा, ‘जो लोग रूस के खिलाफ इस तरह के बयानों को बढ़ावा दे रहे हैं, उन्हें यह याद रखना चाहिए कि रूस के पास भी नाटो देशों से निपटने के लिए सभी जरूरी चीजें मौजूद हैं। हमारे देश की एकता और अखंडता पर जब भी कोई खतरा पैदा होगा तो फिर हम अपनी पूरी शक्ति का इस्तेमाल करेंगे।’

पुतिन ने कहा कि हमारी इस चेतावनी को किसी को भी हल्के में नहीं लेना चाहिए। इस बीच बुधवार से ही पुतिन ने मिलिट्री मोबिलाइजेनश का आदेश दे दिया है। इसके तहत उन नागरिकों को तैयार किया जाएगा, जिनके पास कोई सैन्य प्रशिक्षण रहा है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper