47 साल बाद वक्री मंगल ने बनाया अशुभ योग, इन 4 राशि वालों को रहना होगा सावधान

नई दिल्ली। ग्रहों के सेनापति मंगल (mangal) ने 13 नवंबर को वक्री अवस्था में वृषभ राशि में गोचर किया है. इस राशि में मंगल 12 मार्च 2023 तक रहेगा. मंगल के इस गोचर को कई मायनों में खास माना जा रहा है. ज्योतिषियों (astrologers) की मानें तो मंगल का यूं वक्री होकर राशि बदलना एक दुर्लभ घटना (rare event) है. इससे पहले मंगल ने ऐसी चाल 14 दिसंबर 1975 को चली थी. 47 साल बाद मंगल एक बार फिर वक्री होकर वृषभ राशि में गया है. ज्योतिषियों का कहना है कि मंगल के इस दुर्लभ संयोग के बाद कुछ राशि के जातकों को विशेष रूप से सावधान रहना होगा.

मेष राशि-
वक्री मंगल का वृषभ राशि (Taurus) गोचर मेष राशि वालों की मुश्किलें बढ़ा सकता है. परिवार के साथ झगड़े की स्थिति उत्पन्न हो सकती है. आर्थिक मोर्चे पर धन हानि होने की संभावना बन रही है. रुपये-पैसे के लेन-देन और निवेश के मामले में बहुत सावधानी बरतनी होगी. यह गोचर करियर के लिहाज से भी आपके लिए अच्छा नहीं माना जा रहा है. सफलता पाने के लिए छात्रों को बहुत ज्यादा प्रयास करना पड़ेगा. दांपत्य जीवन में खटास पैदा हो सकती है.

मिथुन राशि-
वृषभ राशि में वक्री मंगल (Retrograde Mars) खर्चों में बढ़ोतरी का कारण बनेगा. छोटे भाई या बहन से किसी बात पर अनबन हो सकती है. यात्राओं से भारी नुकसान हो सकता है. यदि इस दौरान आप किसी बड़े निवेश के बारे में सोच रहे हैं तो फिलहाल इसे टाल दें. इस समय छोटी से छोटी बीमारी (disease) को अनदेखा करना आपको भारी पड़ सकता है. दाम्पत्य जीवन में भी अनबन हो सकती है. अहंकार से नुकसान होगा.

तुला राशि-
वृष राशि में वक्री मंगल तुला राशि के जातकों के लिए चुनौतिपूर्ण रहने वाला है. आपको सफलता हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ेगी. आप मानसिक तनाव से भी पीड़ित रह सकते हैं. आर्थिक मोर्चे पर काफी उतार-चढ़ाव का सामना कर सकते हैं. इस समय आपका लोगों से व्यवहार काफी अलग रहेगा, जिसकी वजह से ऑफिस में सहकर्मियों से आपके संबंध बिगड़ सकते हैं. अपनी वाणी को लेकर बहुत सतर्क रहने की आवश्यकता है.

मकर राशि-
वक्री मंगल मकर राशि वालों की संतान, व्यवहार और करीबी संबंधों पर बुरा असर डालेगा. बच्चों की सेहत खराब हो सकती है. दांपत्य जीवन में खटास पड़ सकती है. करीबी दोस्तों से रिश्ते बिगड़ सकते हैं. निवेश से जुड़े मामलों में भी आपको बहुत सावधानी बरतनी होगी. इस दौरान कर्ज में दिया हुआ रुपया भी डूब सकता है. बैंक-बैलेंस बिगड़ सकता है.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper