Cholesterol: बढ़े कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करनेके लिए इन फलों का करें सेवन, दिल भी रहेगा हेल्दी

अगर ब्लड में लो डेंसिटी वाले लिपोप्रोटीन की मात्रा अधिक है, तो ऐसे में हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है। कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) बढ़ने की वजह अक्सर अनहेल्दी डाइट, प्रोसेस्ड फूड्स और बाहर का तला-भुना खाना, शुगर फूड्स और लो फाइबर फूड्स होते हैं। साथ ही अल्कोहल का ज्यादा सेवन, एक्सरसाइज की कमी, हाई ब्लड प्रेशर या डायबिटीज भी इसकी वजह हो सकती है। ऐसे में कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करने के लिए उन जादुई फलों को डाइट में शामिल करना चाहिए जो विटामिन, मिनरल्स और एंटीऑक्सीडेंट से भरे होते हैं

विटामिन सी​ युक्त फल
खट्टे फल विटामिन सी और फाइबर से भरपूर होते हैं। इसमें एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो LDL कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए बेहद अहम हैं। आपको बताते चलें कि विटामिन सी हार्ट डिजीज और ब्लड प्रेशर के खतरे को कम करता है। ऐसे में ये फल जरूर खाने चाहिए।

एवोकैडो
एवोकैडो में मोनोअनसैचुरेटेड और पॉलीअनसेचुरेटेड फैट होता है, जो हार्ट के लिए लाभकारी होता है। एवोकाडो हाई डेंसिटी वाले लिपोप्रोटीन (HDL) और लो डेंसिटी वाले लिपोप्रोटीन कोलेस्ट्रॉल लेवल दोनों को कंट्रोल करने में बेहद फायदेमंद है।

जामुन
जामुन में फाइटोन्यूट्रिएंट्स होते हैं जो आपके हार्ट को हेल्दी रखते हैं और कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करने में मदद करते हैं। जामुन को किसी तरह से भी अपनी डाइट में शामिल कर आप अपनी बॉडी के हेल्दी कोलेस्ट्रॉल को बढ़ावा दे सकते हैं।

केला और फाइबर युक्त फल
केला फाइबर, विटामिन और कई मिनरल्स के साथ सुक्रोज, फ्रक्टोज और ग्लूकोज जैसे शुगर से भरपूर होता है। ये पोटेशियम और फाइबर का अच्छा सोर्स है जो कोलेस्ट्रॉल और ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद करता है। फाइबर वाले हार्ट-हेल्दी फ्रूट्स भी हाई कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करने में मदद कर सकते हैं। फाइबर से भरे फलों में सेब और नाशपाती का आप रेगुलर सेवन कर सकते हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper