Vastu Tips : घर में ऐसी चीजें रखी तो होगा अशुभ, जाने सही रखने का ढंग

Vastu Tips in Hindi : वास्तु के अनुसार घर में बहुत सी चीजें सही नहीं होती, जिनसे कई तरह की समस्याएं होती हैं। इससे घर में अशुभता नहीं आती और घर में धन-संपत्ति की वृद्धि होती है। आइए जानते हैं ऐसी ही बातों के बारे में:

वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में सामने कोई पेड़ नहीं होना चाहिए। कहते हैं इससे आपके जीवन में उन्नति का मार्ग बंद हो जाता है। वहीं घर के दरवाजे के सामने कोई कुआं भी नहीं होना चाहिए।

घर का मुख्य दरवाज़ा खराब है तो इसे तुरंत ही सही करा लें। ऐसा कहा जाता है कि घर का मुख्य द्वार खराब होने से घर में धन की कमी हो जाता है। इससे घर में नकारात्मक ऊर्जा ने लगती है। इसलिए घर के दरवाजे को तुरंत सही करा लें।

घर के दक्षिण-पश्चिम कोने में हमेशा भारी वस्तु रखनी चाहिए। ऐसा कहा जाता है कि इससे राहु ग्रह शांत होता है। लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि इस दिशा में टॉयलेट नहीं बनवाना चाहिए। इस दिशा में टॉयलेट बनवाने से घर में राहु का प्रभाव रहता है। घर के लोगों को मानसिक समस्याएं रहती हैं।

यदि घर के मध्य यानी बीच वाले स्थान को हमेशा खाली रखना चाहिए। इसलिए घरों में आंगन बनवाए जाते थे। इस स्थान में भारी सामान रखने या गदंगी रखना अशुभ होता है। इससे घर के सदस्यों को परेशानी होती है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper