क्या आयुष्मान कार्डधारक कोरोना का इलाज भी मुफ्त में करवा सकते हैं? यहां जानें जवाब

नई दिल्ली. आज के समय में आप देखेंगे कि लोग अपने खानपान और अपनी दिनचर्या पर विशेष ध्यान दे रहे हैं, क्योंकि उन्हें डर है कि कोई बीमारी उनको अपना शिकार न बना ले। कोरना वायरस के आने के बाद से तो लोगों ने अपने स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान देना शुरू किया है। लोग योग करने लगे, हेल्दी डाइट लेने लगे, दिनचर्या में बदलाव किए आदि। ऐसा इसलिए क्योंकि अगर एक बार कोई कोरोना की चपेट में आ जाए, तो उसे अस्पताल में तक भर्ती होना पड़ सकता है जिसमें काफी खर्चा भी होता है। वहीं, अगर आप आयुष्मान कार्डधारक हैं, तो शायद आपके मन में ये सवाल हो कि क्या आयुष्मान कार्ड की मदद से कोरोना का इलाज मुफ्त में कराया जा सकता है या नहीं? तो बिना देर किए इस सवाल का जवाब जानने की कोशिश करते हैं। आप अगली स्लाइड्स में इस बारे में जान सकते हैं…

दरअसल, आयु्ष्मान भारत योजना, जिसका नाम अब बदलकर ‘आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना-मुख्यमंत्री योजना कर दिया गया। इसके अंतर्गत अगर आप लाभार्थी हैं, तो आप सूचीबद्ध अस्पतालों में अपना 5 लाख रुपये तक का

वहीं, बात अगर कोरोना वायरस बीमारी की करें, तो आयुष्मान कार्डधारक इसका भी इलाज योजना के तहत मुफ्त में करवा सकते हैं। ऐसे में अगर आप भी ये कार्ड बनवाना चाहते हैं तो आप अपनी पात्रता चेक करके इस कार्ड को बनवा सकते हैं।

आपको सबसे पहले पीएम जन आरोग्य योजना की आधिकारिक वेबसाइट mera.pmjay.gov.in पर जाना है
यहां 10 अंकों का अपना मोबाइल नंबर दर्ज करें
इसके बाद स्क्रीन पर दिए हुए कैप्चा कोड को दर्ज कर दें

अब ‘गेट ओटीपी’ पर क्लिक करें और फिर मोबाइल नंबर पर आए ओटीपी को दर्ज करें
अपना प्रांत चुनें और जिले पर क्लिक करें
फिर अपना नाम, पिता का नाम, जैसी अन्य जरूरी जानकारियां यहां दर्ज करें
अब आपको अपनी पात्रता का पता चल जाएगा कि आपका आयुष्मान कार्ड बन पाएगा या नहीं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
-----------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper