गुजरात के बाद अब यूपी में ऑनलाइन क्रिकेट सट्टेबाजी रैकेट का भंडाफोड़

हापुड़ । गुजरात के बाद उत्तर प्रदेश के हापुड़ जिले में एक अंतर्राष्ट्रीय ऑनलाइन क्रिकेट सट्टेबाजी रैकेट का भंडाफोड़ हुआ है। मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया है। दोनों आरोपी एक ओपन ब्रॉडकास्टर सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल कर बिग बैश पंजाब टी20 नाम से एक फर्जी टी20 टूर्नामेंट का आयोजन और लाइवस्ट्रीमिंग कर रहे थे।

एसपी हापुड़ दीपक भुकर ने संवाददाताओं से कहा, “हमने दो लोगों को गिरफ्तार किया है, जिनकी पहचान ऋषभ कुमार और शब्बू अहमद के रूप में हुई है। ये दोनों लोग हापुड़ स्थित स्टेडियम में टी-20 मैचों का आयोजन कर रहे थे और एक ‘क्रिक हीरो’ एप पर लाइव स्ट्रीमिंग कर रहे थे।”

दिलचस्प बात यह है कि मैच के लुक और फील को अत्यधिक पेशेवर बनाया गया था, जिसके लिए रूस के एक ऑपरेटर अशोक चौधरी ने आईटी उपकरण और क्रिकेट सामग्री प्रदान किए थे। ऋषभ का काम टीमों की व्यवस्था करना था जबकि शब्बू अच्छी गुणवत्ता वाले स्टेडियमों की पहचान की। पूछताछ के दौरान, ऋषभ ने खुलासा किया कि वह प्रत्येक मैच में लगभग 50,000 रुपये कमाता है। साथ ही टीम के खिलाड़ियों को मैचों के लिए भी भुगतान किया गया था।

पुलिस सूत्रों ने आगे खुलासा किया कि गिरफ्तार किए गए दो व्यक्ति केवल मैचों का आयोजन कर रहे थे, लेकिन असली व्यक्ति कहीं और है, जो शायद रूस में और गुजरात में हाल ही में एक नकली क्रिकेट लीग के भंडाफोड़ से जुड़ा हो सकता है।

एसपी ने बताया कि जांच के दौरान आसिफ चौधरी का नाम सामने आया है। गुजरात मामले में भी इस आरोपी का नाम सामने आया है। वह इस समय मास्को में है।

भुकर ने कहा, “हमें पता चला है कि मेरठ में भी मैचों का सीधा प्रसारण किया गया है और इसमें आरोपी वॉलीबॉल जैसे अन्य खेलों को शामिल करने के लिए बातचीत कर रहे थे।”

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper