जानिये क्यों गैस सिलेंडर पर लिखा होता है ये नम्बर.. पढ़े बेहद महत्वपूर्ण खबर..!

आधुनिक सुविधाएं मानव जीवन के लिए जितनी लाभदायक है उतनी ही खतरनाक भी है। गैस सिलेंडर भी ऐसी ही चीज है। रसोई गैस के प्रयोग से महिलाओं का जीवन आसान तो हो गया है पर इसके खतरे भी कम नही है। आए दिन गैस सिलेंडर फटने से होने वाली भयानक दुर्घटनाओं की खबर सुनने को मिलती रहती है। ऐसे में इसका इस्तेमाल करते समय हमें आवश्यक सावधानी बरतनी चाहिए जैसे कि ज़रा सी भी लीकेज की आशंका हो तो उसे नजर अंदाज ना करें।

साथ ही कुछ ऐसी बाते भी हैं जिनपर हम गौर नही करते जबकि वो हमारे लिए बेहद जरूरी होती हैं। आज हम आपको रसोई गैस सिलेंडर से समबन्धित एक ऐसी ही जरूरी बात बताने जा रहे हैं जो आपको इसके खतरों से बचा सकती है। आपके घर में आने वाले सिलिंडर एक्सपायरी डेट के हो सकते हैं, जो खतरनाक है। इसलिए जरूरी है कि जब भी सिलेंडर आए तो आप उसकी एक्सपायरी डेट की जांच कर लें।

दरअसल हम बात कर रहे हैं गैस सिलेंडर पर लिखे एक विशेष कोड नम्बर की जो सिलेंडर के सबसे ऊपर रेगुलेटर के पास जो तीन पट्टी लगी होती है उन में से किसी एक पर लिखा होता है जैसे नीचे दी हुई तस्वीर में दिखाया गया है।

ऐसे चेक करते हैं एक्सपायरी डेट

इंडियन ऑयल, भारत पेट्रोलियम और हिंदुस्तान पेट्रोलियम तीनों ही कंपनियों के एलपीजी सिलेंडर में तीन पत्तियां लगी रहती हैं। इसमें दो पत्तियों पर सिलेंडर का वजन और तीसरी पत्ती में कुछ नंबर लिखे होते हैं। यह वास्तव में सिलेंडर की एक्सपायरी डेट होती है।आपने देखा होगा कि सिलेंडर की पट्टी पर A-22, B-24 या C-23, D-21 लिखा होता है। इन चारों अक्षरों को महीनों में बांटा गया है :-

ए का मतलब जनवरी से मार्च तक
बी का मतलब अप्रैल से जून तक
सी का मतलब जुलाई से सितंबर तक
डी का मतलब अक्तूबर से दिसंबर तक होता है।
ए, बी, सी और डी अंकों के बाद लिखी संख्या एक्सपायरी वर्ष होती है। यानी अगर पट्टी पर D-22 लिखा है तो सिलेंडर दिसंबर 2022 को एक्सपायर हो जाएगा। हर एलपीजी गैस सिलिंडर को इस्तेमाल करने की एक समयसीमा होती है। इस अवधि के बाद सिलेंडर की टेस्टिंग करवानी होती है। यदि टेस्टिंग में सिलिंडर इस्तेमाल करने लायक नहीं निकलता तो इसे मार्केट से हटा दिया जाता है। किसी भी नए सिलेंडर की टेस्टिंग 10 से 15 साल में करानी होती है। वहीं पुराने सिलेंडर की टेस्टिंग हर पांच साल में करवानी जरूरी है। ऐसे में आप जब भी नया गैस सिलेंडर लें तो ये नम्बर जरूर चेक कर लें।

गैस कम्पनियां ये नम्बर अंकित कर अपनी जिम्मेदारी निभाती है। हमें भी एक सजग उपभोक्ता के रूप में इस गौर जरूर करना चाहिए। चूंकि अभी भी ज्यादातर लोगों को इसके बारे में पता नही है इसलिए आप इस खबर को अधिक से अधिक साझा करें ताकि हर कोई इसके बारे में जान सकें। ये जानकारी लोगों की जान बचा सकती है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
--------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper