महरौली मर्डर: आफताब ने कई बार श्रद्धा का शारीरिक शोषण किया

नई दिल्ली: जांच में तेजी के साथ ही दिल्ली पुलिस को श्रद्धा वॉकर और उसके दोस्तों के बीच चैट का पता चला है, जो आफताब अमीन पूनावाला द्वारा दुर्व्यवहार के एक पैटर्न का खुलासा करता है, जिसके बाद 18 मई को श्रद्धा की हत्या कर दी गई। श्रद्धा, जिसे पीटा गया और गला घोंटकर मार डाला गया और फिर आफताब द्वारा 35 टुकड़ों में काट दिया गया, उसने मौत से पहले अपने दोस्तों और सहकर्मी के साथ व्हाट्सएप और इंस्टाग्राम पर बातचीत की। उसने उन्हें बताया था कि उनके रिश्ते की शुरूआत से ही आफताब द्वारा उसका शारीरिक शोषण किया जाता रहा है।

कल की मार से मैं आज तक ठीक नहीं हो पाई हूं.. मुझे लगता है कि मेरा बीपी (रक्तचाप) कम है और शरीर दर्द कर रहा है। सहकर्मी के साथ उसकी यह बातचीत दो साल पहले हुई थी, जब वह आफताब के साथ मुंबई के पास अपने गृहनगर वसई में रहती थी। चेहरे पर चोट के निशान के साथ अपनी तस्वीर संलग्न करते हुए उसने अपने सहयोगी से कहा था, मेरे पास बिस्तर से उठने की ऊर्जा नहीं है। उसने आगे कहा, मैंने आपको जो परेशानी दी है और जिस तरह से काम को प्रभावित किया है, उसके लिए मैं ईमानदारी से माफी मांगती हूं।

उसने अपने सहयोगी से यह भी कहा कि वह आफताब के माता-पिता से मिल चुकी हैं। पिछले साल दिसंबर में श्रद्धा को वसई के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। डॉक्टर ने अपनी रिपोर्ट के अनुसार कहा कि जब वह उनके पास आई तो आंतरिक चोटें थीं। डॉक्टर की रिपोर्ट के अनुसार, उसे गंभीर पीठ दर्द, मतली, गर्दन में दर्द, गर्दन को हिलाने में कठिनाई और निचले अंग में झुनझुनी और सुन्नता थी।

श्रद्धा और आफताब 2018 में डेटिंग ऐप ‘बंबल’ के जरिए मिले थे। वह 8 मई को दिल्ली आए थे और 15 मई को छतरपुर इलाके में शिफ्ट हो गए थे। 18 मई को आफताब ने श्रद्धा की हत्या कर दी और उसके शरीर को 35 टुकड़ों में काटकर फेंक दिया। सूत्रों ने बताया कि जब आफताब को पहली बार पूछताछ के लिए बुलाया गया तो उसने जांचकर्ताओं को बताया कि श्रद्धा 22 मई को घर से चली गई थी।

सूत्रों ने कहा, हालांकि, उसका सारा सामान घर पर था, जिस पर आफताब ने पुलिस को बताया कि उसने केवल फोन लिया था। उसने यह भी कहा कि उसके जाने के बाद से उन्होंने एक-दूसरे से बात नहीं की। जांचकर्ताओं को उस पर संदेह हुआ और निरंतर पूछताछ पर, आफताब ने आखिरकार श्रद्धा की हत्या करना कबूल कर लिया। उसे 12 नवंबर को गिरफ्तार किया गया था।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper