राज्य

मोबाइल फोन वापस नहीं करने को लेकर हुआ विवाद बना हत्या का कारण, तीन आरोपित गिरफ्तार

रायपुर। राजधानी के थाना खमतराई क्षेत्र में बीते दिन सोमवार को हुए अंधे कत्ल का मामला पुलिस ने सुलझा लिया है। बता दें इस मामले में पुलिस ने एफआइआर दर्ज होने के चंद घंटे में ही तीन आरोपित को गिरफ्तार किया है। आरोपितों द्वारा मृतक गणेश साहू का मोबाइल फोन वापस नहीं करने को लेकर हुआ विवाद हत्या का कारण बना था। आरोपितों ने पत्थर से सिर तथा चेहरे पर ताबड़तोड़ वार कर गणेश साहू की हत्या की थी। पुलिस ने आरोपितों के कब्जे से मृतक गणेश साहू का मोबाइल फोन एवं घटना में प्रयुक्त पत्थर जब्त किया है। तीनों आरोपित भूपेन्द्र बंजारे उम्र 20 साल, ऐशलाल कुर्रे उम्र 22 साल और संतोष कुर्रे उम्र 19 साल, सभी थाना खमतराई रायपुर के निवासी हैं।

दरअसल 22 मई सोमवार को थाना खमतराई पुलिस की टीम को खमतराई गोंदवारा स्थित बिजली आफिस के सामने एक अज्ञात व्यक्ति का शव पड़े होने की जानकारी मिली थी। जिस पर थाना खमतराई पुलिस की टीम ने घटना स्थल पर जाकर शव का परीक्षण किया। मृतक के सिर, चेहरे, होंठ, जबडा पर किसी वस्तु से जानलेवा हमला कर चोट पहुंचाने के साथ ही गले में काला बेल्ट का टुकड़ा फंसा होना तथा पास ही पड़े पत्थर पर खून के निशान होना पाया गया। प्रथम दृष्ट्या में किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा मृतक के सिर व चेहरे पर पत्थर से मारकर गंभीर चोट पहुंचाकर हत्या किया जाना प्रतीत हो रहा था। मृतक की पहचान के लिए मृतक के शरीर में बने गोदने के आधार पर आसपास के लोगों से पूछताछ किया गया। जिसपर मृतक की पहचान खमतराई निवासी गणेश साहू पिता दशरथ साहू के रूप में की गई।

उक्त अंधेकत्ल की घटना को गंभीरता पूर्वक लेते हुए अज्ञात आरोपित की पतासाजी की जा रही थी। इसी दौरान पुलिस को जानकारी प्राप्त हुई की मृतक को अंतिम बार खमतराई निवासी भूपेन्द्र बंजारे, ऐशलाल कुर्रे एवं संतोष कुर्रे के साथ देखा गया है। जिस पर पुलिस द्वारा भूपेन्द्र बंजारे, ऐशलाल कुर्रे एवं संतोष कुर्रे की पतासाजी कर पकड़कर घटना के संबंध में पूछताछ करने पर उनके द्वारा किसी भी प्रकार से अपराध में अपनी संलिप्तता नहीं होना बताते हुए लगातार गुमराह किया जा रहा था। तथा तीनों के अलग-अलग बयान लने पर उनके बयान पर भिन्नता पाये जाने पर पुलिस का शक तीनों पर गहरा हो गया। जिससे प्राप्त साक्ष्यों के आधार पर कड़ाई से पूछताछ करने पर तीनों आरोपितों ने मृतक गणेश साहू की हत्या करना स्वीकार किया।

पूछताछ में आरोपितों ने बताया कि वे मृतक गणेश साहू से अपरिचित है। वारदात वाले दिन घटना स्थल से कुछ दूरी पर मृतक गणेश साहू रात में अकेले बैठकर मोबाइल चला रहा था। इसी दौरान सभी आरोपित गणेश साहू के पास जाकर अंधेरा होने के बात कहकर मृतक से उसके मोबाइल फोन में टार्च जलाने की बात कहते हुए उसका फोन मांगा। जिस पर मृतक ने अपना मोबाइल फोन ऐशकुमार कुर्रे को दे दिया। ऐशकुमार कुर्रे उसके मोबाइल फोन को लेकर घटना स्थल के पास चला गया। जिसके बाद मृतक द्वारा अपना मोबाइल फोन को आरोपितों से वापस मांगने पर आरोपितों ने मोबाइल फोन वापस नही देने की बात कहते हुए आवेश में आकर मृतक गणेश साहू के साथ मारपीट की। घटनास्थल पास रखे पत्थर से मृतक के सिर व चेहरे पर ताबड़तोड़ वार कर उसकी हत्या कर दी एवं उसके मोबाइल फोन को लेकर फरार हो गये।

 

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
E-Paper