राजस्‍थान में बुधवार से फिर शुरू हो सकता है भारी बारिश का दौर

राजस्‍थान : राजस्‍थान में मानसून की बारिश (Monsoon Rain) जारी है, जहां बीते चौबीस घंटे में सबसे अधिक नौ सेंटीमीटर बारिश टोंक में दर्ज की गई। वहीं, राज्‍य में भारी बारिश (Heavy Rain) एक और दौर बुधवार से शुरू होने की संभावना है।

मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार, मंगलवार सुबह साढ़े आठ बजे तक पिछले 24 घंटे में राज्‍य के टोंक में नौ सेमी, भरतपुर के बयान में चार सेमी, अलवर के मालाखेड़ा, भरतपुर के कामां, दौसा के लालसोट, सीकर के दांतारामगढ़, बूंदी के नैनवां तथा चुरू में तीन-तीन सेमी बारिश हुई। राज्‍य के कई अन्‍य जिलों में भी इस दौरान हल्‍की बारिश व बूंदाबांदी दर्ज की गई। राजधानी जयपुर के अनेक इलाकों में मंगलवार तड़के बारिश हुई। विभाग के अनुसार, राज्‍य के अनेक इलाकों में भारी बारिश का दूसरा दौर कल यानी बुधवार से शुरू हो सकता है।

जयपुर के मौसम केंद्र के अनुसार, ‘मानसून ट्रफ’ (कम दबाव के क्षेत्र) के एक बार पुनः अपने सामान्य स्थिति की तरफ स्थानांतरित होने से राज्य के उत्तरी व पूर्वी भागों में बारिश की गतिविधियों में तीन अगस्त से बढ़ोतरी होने की संभावना है। वहीं, चार अगस्त को पूर्वी राजस्थान के कोटा संभाग व आसपास के जिलों में कहीं-कहीं भारी बारिश होने की संभावना है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper